मेस के खाने पर सवाल उठाने वाला सिपाही गया लंबी छुट्टी पर, ADG बोले- छुट्टी लेना और देना अपराध नहीं


हाइलाइट्स

सिपाही मनोज कुमार ने फिरोजाबाद के पुलिस लाइन के मेस में मिलने वाले खाने पर उठाया था सवाल
ADG आगरा जोन ने पुलिस लाइन मेस का निरीक्षण किया और मेन्यू को भी देखा

फिरोजाबाद. यूपी के फिरोजाबाद के जनपद न्यायालय गेट के सामने सड़क पर हाथ में खाने की थाली लेकर हंगामा करने वाले सिपाही का वीडियो वायरल होने के बाद एडीजी ने शनिवार को पुलिस लाइन में जाकर खाने की मेस का निरिक्षण किया. इस दौरान उन्होंने कैंटीन में मिलने वाले खाने की गुणवत्ता के साथ-साथ मेन्यू कार्ड को भी देखा. निरिक्षण के दौरान एडीजी ने कहा की इस मेस में प्रतिदिन लगभग 250 सिपाही खाना खाते हैं, किसी ने कोई शिकायत नहीं की. फिर भी किसी को कोई शिकायत है तो अनुशासन में रहकर बताएं. वहीं सिपाही के छुट्टी भेजने के सवाल पर उन्होंने कहा कि छुट्टी लेना और देना कोई अपराध नहीं.

बता दें कि हाल ही में कुछ दिन पहले मनोज नाम के सिपाही का एक वीडियो सोशल मीडिया पर जमकर वाइरल हुआ था. जिसमें खाने की गुणवत्ता को लेकर सिपाही हाथ में खाने की थाली लेकर सड़क पर निकल आया था और फूट फूटकर रोया था. वहीं एडीजी राजीव कृष्ण आजादी के अमृत महोत्सव  कार्यक्रम में शिरकत करने के लिए फिरोजाबाद पुलिस लाइन पहुंचे, जहां उन्होंने खाने की कैंटीन का निरिक्षण किया. इस दौरान उन्होंने खाने का मेन्यू कार्ड देखा और कैंटीन की व्यवस्था का जायजा लिया.

सिपाही अनुशासन में रहकर करें शिकायत: ADG
एडीजी ने मिडिया से बातचीत करते हुए कहा कि सिपाही द्वारा खाने की गुणवत्ता को लेकर एक वीडियो वायरल हुआ था, जिसके बाद मेस का निरिक्षण किया है. वैसे खाने को लेकर अगर किसी सिपाही को कोई दिक्कत है तो वह अनुशासन में रहकर अपनी बात कहे, लेकिन इस कैंटीन में 250 के लगभग सिपाही खाना खाते है. किसी सिपाही ने कोई शिकायत नहीं की. वहीं उन्होंने मीडिया को नसीहत देते हुए कहा कि पुलिस द्वारा अनुशासनहीनता की खबरें न दिखाए.

एसएसपी ने कही ये बात
उधर सिपाही को छुट्टी पर भेजे जाने के सवाल पर एसएसपी आशीष तिवारी ने कहा था कि सिपाही ने छुट्टी के लिए आवेदन किया था, जिसे मंजूर कर लिया गया है. जहां तक मेस के खाने की बात है तो उसकी जांच करवाई जा रही है.

Tags: Firozabad News, UP latest news



Source link

more recommended stories