मेरठ के इस थाने में आधी रात को पुलिसकर्मियों के बीच हुआ खूनी संघर्ष, जमकर हुई चाकूबाजी


हाइलाइट्स

कानून के रखवालों में खूनी संघर्ष,
SSP ने किया दोनों को लाइन हाजिर
चाकूबाजी में एक सिपाही बुरी तरह से घायल
एसएसपी ने थानेदार को भी हटाया

मेरठ. मेरठ के थाना कंकरखेड़ा में शनिवार देर रात सिपाहियों में खूनी संघर्ष हुआ. आपसी विवाद को लेकर दो सिपाही आपस में भीड़ गए. जिसके बाद एक दूसरे के साथ जमकर मारपीट की और बाद में एक सिपाही ने दूसरे सिपाही को चाकू भी मार दिया. हैरानी की बात यह है कि थाना पुलिस इस पूरे मामले को दबाए बैठी रही. लेकिन रविवार को हमले के बाद का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ तो जिले में खलबली मच गई. मामला सामने आने के बाद एसएसपी मेरठ ने इस मामले पर कार्रवाई करते हुए दोनों सिपाहियों को लाइन हाजिर कर दिया और थानेदार को भी हटा दिया.

अधिकारियों ने पूरे प्रकरण की जांच के निर्देश दिए हैं. बताया जाता है कि संघर्ष के दौरान एक सिपाही बुरी तरह से घायल हो गया है. उसे अस्पताल में भर्ती कराया है. मामला मेरठ के थाना कंकरखेड़ा क्षेत्र के योग्य पुरम चौकी का है. जहां सिपाही ओजस्वी और दीपक आपस में भिड़ गए. आपसी विवाद में झगड़े के बाद मौके पर मौजूद सिपाहियों ने बीच-बचाव कराया.

ग्रेटर नोएडा में अपने ही घर के बाहर धरने पर बैठे बुजुर्ग मकान मालिक, पढ़िए क्या है माजरा

सूत्रों की माने तो ओजस्वी कंकरखेड़ा थानेदार का बेहद खास सिपाही है. इसी बात को लेकर दोनों के बीच संघर्ष हुआ. हालांकि पुलिस अधिकारी बाद में निजी कारणों से विवाद बता रहे हैं. जिसके बाद एसएसपी मेरठ रोहित सिंह सजवान ने कार्रवाई करते हुए दोनों ही सिपाहियों को लाइन हाजिर कर दिया और इंस्पेक्टर सुबोध कुमार को कंकरखेड़ा से हटाकर सर्विलांस प्रभारी बना दिया. घटना के बाद आज दिनभर पुलिस महकमे में चर्चा बनी रही.

Tags: Meerut news, Meerut police, UP news, UP police



Source link

more recommended stories