मेरठ के इस प्राइमरी स्कूल में अब तक नहीं पहुंची बिजली, गर्मी में तड़प रहे बच्चे


मेरठ. आज के इस दौर में जहां गांव-गांव और घर-घर बिजली पहुंच चुकी है, वहीं कुछ जगहें ऐसी भी हैं जो बिजली के दर्शन को तरस रही हैं. मेरठ के प्राथमिक स्कूल मकबरा नंबर एक में अब तक बल्ब की रोशनी नहीं चमकी. शहर के बीच स्थित इस स्कूल की इमारत भी इतनी जर्जर है कि दीवारों पर पीपल के पेड़ उग आए हैं. इस स्कूल की सूरत बदलनी ही चाहिए.

प्राइमरी स्कूल नम्बर एक की प्रिंसिपल शाजिया का कहना है कि वो दुआ करती हैं उनके स्कूल में लाइट आ जाए. आज के इस हाईटेक युग में जहां चहुंओर चकाचौंध नज़र आती है. यूपी बिजली की रोशनी से जगमगा रहा है. वहीं प्राइमरी स्कूल में बिजली नहीं होने से कई तरह की परेशानियां उठानी पड़ती हैं.

मेरठ के मकबरा नम्बर एक के इस प्राइमरी स्कूल में बिजली कनेक्शन नहीं हो पाया है. दशकों से किराए की बिल्डिंग पर चल रहे इस स्कूल में दो वर्ष पहले वायरिंग तो हुई लेकिन बिजली का मीटर आज तक नहीं लग पाया. हर गर्मी में यहां का हाल बेहाल हो जाता है. क्या टीचर्स क्या बच्चे सभी प्रचंड गर्मी से परेशान नज़र आते हैं. प्राइमरी स्कूल नम्बर एक की प्रिंसिपल शाजिया का कहना है कि वो दुआ करती हैं उनके स्कूल में लाइट आ जाए. स्कूल में बिजली का कनेक्शन न होने की वजह से गर्मी में बच्चों को पीपल के पेड़ के नीचे बैठाकर पढ़ाया जाता है.

मेरठ के इस प्राइमरी स्कूल में अब तक नहीं पहुंची बिजली.

दरअसल, इस स्कूल की इमारत इतनी जर्जर है कि दीवारों पर पेड़ उग आए हैं. दीवारों के बीच पीपल के पेड़ को देखकर लगता है कि इमारत अब गिरी कि तब. इस प्रचंड गर्मी में टीचर्स तो अपने साथ हाथ का पंखा लेकर आते हैं, लेकिन बच्चे अपनी कॉपी किताब से ही हवा करते हैं. बच्चे सरकार से गुहार लगाते नज़र आते हैं कि उनके स्कूल में भी बिजली की सुविधा उपलब्ध हो जाए. पंखे लगें ताकि वो चैन से पढ़ सकें. इस स्कूल में बिजली कब आएगी ये आगे पता चलेगा, लेकिन इस बीच बीएसए का कहना है कि बिजली के बिल न जमा हो पाने के कारण तकरीबन पैंतीस स्कूल के कनेक्शन काट दिए थे. उन्हें जुड़वाया जा रहा है.

Tags: Meerut news, UP news, UP Primary School



Source link