मेरठ:-जब सरकारी सिस्टम हुआ फेल तो प्राथमिक विद्यालय की शिक्षिका ने उठाया ऐसा कदम जिससे नौनिहालों को मिला सुकून


पश्चिम उत्तर प्रदेश West Uttar-pradesh के मेरठ Meerut की बात की जाए तो बेसिक शिक्षा से संबंधित प्राथमिक विद्यालयों primary school की बिजली electricity एक अहम मुद्दा topic बना हुआ है.नगर क्षेत्र city area की बात की जाए तो 38 ऐसे सरकारी प्राथमिक विद्यालय government primary school हैं.जहां पर सरकारी विद्युत बिल बकाया जमा न होने के कारण अब बिजली की व्यवस्था नहीं है.जिससे भीषण गर्मी के बीच बच्चों को पढ़ना पड़ रहा है.हालात को देखते हुए अब शिक्षकों ने इसके लिए नया तरीका अपना लिया है.वह खुद ही अपने नाम पर ही कनेक्शन ले रहे हैं.ताकि भीषण गर्मी से नौनिहालों को राहत मिल सके.

खुद लगवाया कनेक्शन
बेगम बाग स्थित प्राथमिक विद्यालय में बिजली का कनेक्शन जब कट गया तो बच्चों ने स्कूल आना ही छोड़ दिया.कई बार शिक्षकों द्वारा प्रयास किया गया.लेकिन अभिभावकों ने कहा कि ऐसी भीषण गर्मी में वह बच्चों को तब तक स्कूल नहीं भेजेंगे जब तक बिजली की व्यवस्था नहीं होगी.जिसके बाद प्रधानाध्यापक शिक्षिका ने अपने नाम पर ही स्कूल में बिजली का कनेक्शन लगवा लिया.शिक्षिका ने News-18 Local की टीम से बातचीत करते हुए बताया कि वह खुद ही बिजली का बिल जमा करती हैं.स्कूल आने में अब नौनिहालों की संख्या में वृद्धि भी हो रही है.इसी तरह का नजारा कई स्कूलों में देखने को मिल रहा.जहां शिक्षकों ने मजबूरन अपने प्रयास के माध्यम से कनेक्शन लिया है.हालांकि बेसिक शिक्षा अधिकारी योगेंद्र कुमार का कहना है कि विभाग द्वारा बकाया जमा कर दिया गया है.जल्द ही बिजली के कनेक्शन जुड़ जाएंगे.

ब्रेकिंग न्यूज़ हिंदी में सबसे पहले पढ़ें News18 हिंदी | आज की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट, पढ़ें सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट News18 हिंदी |

FIRST PUBLISHED : May 04, 2022, 08:32 IST



Source link

more recommended stories