Meerut: ट्रैफिक सिंग्नल पर भूलकर भी ना करें यह गलती, आपकी चालाकी चालान बनकर पहुंचेगी घर


हाइलाइट्स

आईटीएमएस सिस्टम के तहत मुख्य चौराहों पर सीसीटीवी कैमरे लगाए गए हैं
रेड लाइट जंप नहीं करते हैं और जेब्रा लाइन पर खड़े होते हैं तो भी कटेगा चालान

रिपोर्ट- विशाल भटनागर
मेरठ. मेरठ में ट्रैफिक नियमों का पालन कराने के लिए आईटीएमएस सिस्टम की शुरुआत हो गई है. जिससे ट्रैफिक नियमों की अनदेखी करते ही आपकी चालान काट दी जाती है. चालान कटने के बाद आप सोचते रह जाएंगे कि, जब मैंने सिग्नल पार ही नहीं किया तो चालान क्यों काटा गया. वैसे तो आईटीएमएस सिस्टम को देखते हुए वाहन चालक सिग्नल क्रॉस नहीं करते हैं, लेकिन क्या आपको पता है कि, उसके बावजूद भी कुछ ऐसी गलतियां हैं जिसके कारण चालान काटे जा रहे हैं.

आप भले ही सोच रहें हों कि, ऐसा कैसे हो सकता है? दरअसल यह वाहन चालक सिग्नल पर तो रूक रहे है. मगर जेब्रा क्रॉसिंग पर नियमों का पालन नहीं कर रहे हैं. सभी चौराहों पर देखा जा रहा है कि वाहन चालक रेड लाइट होने पर जेब्रा क्रॉसिंग के ऊपर ही खड़े हो जाते हैं. जबकि ट्रैफिक नियम यह है कि जेब्रा क्रॉसिंग से कुछ दूरी पर खड़ा रहना है.

CCTV की मदद से काट रहे चालान
आईटीएमएस सिस्टम के तहत मुख्य चौराहों पर सीसीटीवी कैमरे लगाए गए हैं. ऐसे में वाहन चालक नियमों को तोड़ते हुए जो आगे बढ़ते हैं, उनके सीसीटीवी कैमरे के आधार पर ही चालान होते हैं. यही कारण है जो लोग जेब्रा क्रॉसिंग पर खड़े रहते हैं. उन सभी के चालान भी सीसीटीवी कैमरे के आधार पर ही किए जा रहे हैं.

जानिए कब कितने का कटता है चालान?
आईटीएमएस सिस्टम के तहत जो लोग रेड लाइट, जेब्रा क्रॉसिंग नियम का उल्लंघन करते हैं उनका ₹500 का चालान काटा जाता है. रॉग साइड वालों पर ₹2000, तीन सवारी पर ₹1000, बिना हेलमेट ₹1000 का चालान काटा जाता है. वहीं डीएल, इंश्योरेंस, प्रदूषण संबंधित दस्तावेज नहीं होने पर अलग से चार्ज लिया जाएगा. जो लोग समय रहते अपना चालान जमा नहीं करेंगे. उनसे कोर्ट के माध्यम से भी चालान वसूला जाएगा. नियमों का उल्लंघन संबंधित चालान मोबाइल पर मैसेज के माध्यम से भेजा जाता है.

Tags: Meerut news, UP latest news



Source link

more recommended stories