Meerut News: 6 साल बाद स्टूडेंट्स को मिली PHD एंट्रेंस की अनुमति, यहां जानें पूरा शेड्यूल


रिपोर्ट-विशाल भटनागर

मेरठ: चौधरी चरण सिंह विश्वविद्यालय से समृद्ध कॉलेज और विश्वविद्यालय परिसर से पीएचडी करने के लिए पिछले 6 सालों से जो छात्र-छात्राएं इंतजार कर रहे हैं. उनके इंतजार की घड़ियां खत्म हो चुकी है. ऐसे सभी छात्र-छात्राएं अब विश्वविद्यालय परिसर और कॉलेजों से अब पीएचडी कर पाएंगे. इसके लिए विश्वविद्यालय प्रशासन द्वारा एंट्रेंस एग्जाम फॉर्म ऑनलाइन कर दिए गए हैं.

पीएचडी एंट्रेंस एग्जाम के माध्यम से जो छात्र -छात्राएं पीएचडी में प्रवेश लेना चाहते हैं. ऐसे सभी छात्र छात्राएं विश्वविद्यालय की वेबसाइट पर जाकर ऑनलाइन पीएचडी एंट्रेंस एग्जाम के लिए 20 सितंबर तक आवेदन कर सकते हैं. अक्टूबर माह में यह एग्जाम कराया जाएगा. एंट्रेंस एग्जाम में पास होने वाले छात्र-छात्राओं को ही प्रवेश का मौका मिलेगा.

2,500 रुपए निर्धारित है शुल्क
विश्वविद्यालय प्रशासन ने एंट्रेंस एग्जाम के लिए सामान्य वर्ग के लिए ₹2500, ओबीसी के लिए ₹2000 वहीं एससी-एसटी वर्ग के लिए 1500 रुपए फीस निर्धारित किया है. इसके बाद ही छात्र-छात्राएं प्रवेश के लिए परीक्षा में बैठ पाएंगे.

एंट्रेंस फीस के विरोध में छात्र
उधर एंट्रेंस एग्जाम की फीस को लेकर छात्रों द्वारा विरोध प्रदर्शन की चेतावनी दी गई है. छात्रों का कहना है कि, इतना शुल्क नेट एग्जाम में भी नहीं लगता.जितना विश्वविद्यालय पीएचडी एंट्रेंस एग्जाम के लिए ले रही है. स्टूडेंट्स का कहना है कि, विश्वविद्यालय एंट्रेंस एग्जाम शुल्क और नेगेटिव मार्किंग पर जल्द से जल्द विचार करें अन्यथा आंदोलन किया जाएगा.दरअसल छात्र-छात्राओं द्वारा पीएचडी एंट्रेंस एग्जाम के लिए 6 सालों के अंदर राज्यपाल, उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री सहित विभिन्न मंत्रियों को ज्ञापन सौंपें चुके हैं. क्योंकि, अभी तक छात्र-छात्राओं को एंट्रेंस के माध्यम से पीएचडी करने के लिए दिल्ली, हरियाणा, राजस्थान आदि की यूनिवर्सिटी में जाना पड़ता था.

Tags: Exam dates, Meerut news, Meerut news today, University education, Uttar pradesh news



Source link

more recommended stories