मासूम बच्ची की मौत के बाद मां से बोला डॉक्टर, एक गई अब दूसरी पैदा करो


बाराबंकी. उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ से सटे जिले बाराबंकी में डॉक्टरों की लापरवाही से एक मासूम बच्ची की जान चली गई. आलम यह था कि जब मासूम बच्ची के परिजन उसे इलाज के लिये अस्पताल लेकर पहुचे, तो वहां करीब एक घंटे के बाद नशे की हालत में डॉक्टर पहुंचे, जिसके चलते  मासूम को समय से इलाज नहीं मिला और उसकी मौत हो गई. वहीं बच्ची की मौत के बाद नशे की हालत में डॉक्टर उल्टे परिजनों से ही अभद्रता कर बैठे और पीड़ित मां को दूसरी बेटी पैदा करने की नसीहत देने लगा. डॉक्टर की इस अभद्रता का यह वीडियो अब सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हो रहा है.

पूरा मामला बाराबंकी के सिरौलीगौसपुर में स्थित सौ शैय्या अस्पताल का है. जहां एक बार फिर चिकित्सकों की लापरवाही से एक मासूम की मौत हो गई. और तो और करीब एक घंटे बाद नशे की हालत में पहुंचा डॉक्टर उल्टे परिजनों से अभद्रता कर बैठा और पीड़ित मां को दूसरी बेटी पैदा करने की नसीहत देने लगा. इससे आक्रोशित परिजनों ने ग्रामीणों के साथ मिलकर जमकर हंगामा किया.

जानकारी के मुताबिक सिरौलीगौसपुर के 100 शैय्या अस्पताल में कमोली गांव निवासी विजय रावत अपनी डेढ़ वर्ष की भतीजी परी को लेकर पहुंचे थे. उसके गले में मक्के का दाना अटक गया था. जहां नाइट ड्यूटी से डॉक्टर धर्मेंद्र गुप्ता गायब मिले. जिसके चलते यहां मासूम को समय से इलाज नहीं मिला और उसकी मौत हो गई. वहीं एक घंटे बाद नशे की हालत में पहुंचे डॉक्टर ने उल्टे अभद्रता करते हुए पीड़ित मां सुनीता को दूसरी बेटी पैदा करने की नसीहत देने लगा. जिसका वीडियो अब सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हो रहा है.

वहीं इसके बाद भड़के परिजनों ने ग्रामीणों को सूचना दी. कुछ देर में ग्रामीणों ने वहां पहुंचते ही हंगामा शुरू कर दिया. जानकारी मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंच गई. वहीं ग्रामीण नशे में धुत डॉक्टर का चिकित्सीय परीक्षण कराने की मांग करते रहे, लेकिन अब तक उसके खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं हुई है. जिससे परिजनों में काफी आक्रोश है और वह दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग कर रहे हैं.

Tags: UP Government, UP news



Source link

more recommended stories