Lucknow News: लखनऊ की ऐतिहासिक इमारतों की फिर लौटेगी खूबसूरती, जानें पुरातत्व विभाग का प्‍लान


रिपोर्ट-अंजलि सिंह राजपूत

लखनऊ. यूपी की राजधानी लखनऊ की पहचान दुनियाभर में यहां की तहजीब और खानपान के साथ ही ऐतिहासिक इमारतों की वजह से भी है. लखनऊ की ऐतिहासिक इमारतों को देखने के लिए न सिर्फ देश के कोने-कोने बल्कि विदेश से भी लोग आते हैं. वहीं, सब ऐतिहासिक इमारतों की यादों को और इनकी खूबसूरती को अपने कैमरे में कैद करके लेकर जाते हैं. यही नहीं, पर्यटक ऐतिहासिक इमारतों पर रिसर्च भी करते हैं, लेकिन पिछले लंबे वक्त से जर्जर हो चुकी इमारतों की खूबसूरती कम होने की वजह से लोगों को निराशा ही हाथ लग रही है.

यही वजह है कि देश-विदेश से आने वाले लोग अक्सर लखनऊ की टूटी फूटी इमारतें देखकर निराशा व्यक्त करते थे. हालांकि अब ऐसा नहीं होगा क्योंकि पुरातत्व विभाग ने लखनऊ की ऐतिहासिक इमारतों का कायाकल्प करना शुरू कर दिया है. इन ऐतिहासिक इमारतों का इन दिनों बहुत तेजी से मरम्मत का काम चल रहा है. जल्द ही इन ऐतिहासिक इमारतों को अपनी खोई हुई खूबसूरती वापस मिल जाएगी.

इन इमारतों में चल रहा है काम
बात करें रेजीडेंसी की तो यहां पर कई ऐसी दीवारें थीं, जो कि पूरी तरह से जर्जर हो चुकी थीं. इन इमारतों की मरम्मत कर पुरातत्व विभाग ने एकदम पहले जैसा बना दिया है. इसके अलावा रेजीडेंसी में करीब छह अलग-अलग जगहों को, जो कि पूरी तरह से खराब हो चुकी थीं, उनकी भी मरम्मत की जा चुकी है. अब रेजीडेंसी एकदम नई जैसी लगती है. इसके अलावा बड़ा इमामबाड़ा का गुंबद जो कि पूरी तरह से जर्जर हो चुका था उसकी भी मरम्मत की जा चुकी है. इतना ही नहीं रूमी गेट जिसे देखे बिना लखनऊ का सफरनामा पूरा नहीं होता है, उसका भी गुंबद ऊपर की ओर टूट गया था. इसकी मरम्मत का काम चल रहा है. वहीं हरदोई रोड स्थित टिकैत गंज में बने शिव मंदिर की तो इसका भी सौंदर्यीकरण पुरातत्व विभाग की ओर से किया जा रहा है. इसके अलावा पिक्चर्स गैलरी भी काफी जर्जर हो चुकी थी. पुरातत्व विभाग ने इसको भी नया रूप रंग देने का मन बना लिया है. आने वाले वक्त में लखनऊ की सभी ऐतिहासिक इमारतें पहले से ज्यादा खूबसूरत नजर आएंगी.

काम की हो रही है मॉनिटरिंग
पुरातत्व विभाग के अधीक्षण पुरातत्वविद डॉ. आफताब हुसैन ने बताया कि लखनऊ की ऐतिहासिक स्मारक यहां की पहचान हैं, जो जर्जर हो चुकी थीं. जैसे इमामबाड़े का गुंबद, रूमी गेट का गुंबद और रेजीडेंसी की दीवारें, पिक्चर्स गैलरी और शाही बावली इन सबका सौंदर्यीकरण कराया जा रहा है. पुरातत्व विभाग लखनऊ की ऐतिहासिक स्मारकों की खोई हुई पहचान और खूबसूरती वापस लौटा देगा. मैं रोजाना काम का अपडेट अधिकारी और इंजीनियर से लेता रहता हूं.

पर्यटक बोले खोई रौनक लौटनी चाहिए
लखनऊ की ऐतिहासिक इमारतों में आने वाले पर्यटकों से जब बात की गई तो सभी का यही कहना था कि अगर इनकी मरम्मत हो जाएगी तो ज्यादा लोग यहां पर आना पसंद करेंगे.इसकी रौनक बढ़ जाएगी.जल्द से जल्द इनकी मरम्मत करा देनी चाहिए.

Tags: Lucknow city, Lucknow news



Source link