LPG Gas Cylinder: अब स्मार्ट होगा गैस सिलेंडर का लाक, रुकेगी गैस की चोरी; ऐसे करेगा काम

एमआइईटी के इलेक्ट्रानिक्स एंड कम्युनिकेशन के विभागाध्यक्ष डा. अमित आहूजा ने बताया कि इस डिवाइस को बनाने और पेटेंट कराने में एक साल लग गया। इस लाक की लागत ढाई सौ रुपये है। बड़ी संख्या में तैयार करने पर यह घटकर 150 से 200 रुपये के बीच आ जाएगी।
विवेक राव, मेरठ। रसोई गैस सिलेंडर से गैस चोरी की शिकायत अक्सर सुनने को मिलती है। कभी आरोप डिलीवरी मैन पर लगता है तो कभी गैस एजेंसी प्रबंधन ही शक के दायरे में होता है। दोनों ही स्थितियों में नुकसान उपभोक्ता का ही होता है। आरोपों पर ठोस कार्रवाई भी नहीं होती। बहरहाल, हर घर से जुड़ी इस परेशानी को दूर करने के लिए सार्थक प्रयास सामने आया है। एमआइईटी (मेरठ इंस्टीट्यूट आफ इंजीनियरिंग एंड टेक्नोलाजी) के छात्रों ने एंटी थेफ्ट एलपीजी स्मार्ट लाक तैयार किया है। इसको सिलेंडर पर लगाने के बाद उपभोक्ता ही इसे खोल पाएंगे। इससे गैस चोरी रुक जाएगी। इस स्मार्ट लाक का पेटेंट हो चुका है। इसके उपयोग के लिए अब गैस कंपनियों से संपर्क किया जा रहा है।

more recommended stories