लखनऊ में अफ्रीकी स्वाइन फ्लू से सुअरों की मौत : भोपाल के इंस्टीट्यूट ने की पुष्टि


भोपाल. लखनऊ में बड़ी संख्या में सुअरों की मौत अफ्रीकी स्वाइन फ्लू के कारण हुई है. भोपाल स्थित नेशनल डिसीज डायग्नोस्टिक इंस्टीट्यूट ने इसकी पुष्टि की है. यूपी सरकार ने सुअरों के सैंपल यहां भेजे थे. जांच में  इंस्टीट्यूट ने पाया कि सुअरों की मौत अफ्रीकी स्वाइन फ्लू से ही हुई है. इसके बाद देशभर में इसके फैलने का खतरा बढ़ गया है.

नॉर्थ ईस्ट के बाद उत्तराखंड और यूपी में तेजी के साथ सुअरों की मौत का कारण अफ्रीकी स्वाइन फीवर है. यूपी और उत्तराखंड से भोपाल स्थित नेशनल डिसीज डायग्नोस्टिक इंस्टीट्यूट में सैंपल भेजे गए थे. जांच में अफ्रीकी स्वाइन फीवर होने की पुष्टि हुई है. इंस्टीट्यूट ने लखनऊ और उत्तराखंड से आए सैंपल की रिपोर्ट को पॉजिटिव बताया है.

खतरनाक है बीमारी
अफ्रीकी स्वाइन फीवर नॉर्थ ईस्ट में कहर बरपा चुका है. मिजोरम और त्रिपुरा में अफ्रीकन स्वाइन फीवर के कारण बड़ी संख्या में सुअरों की मौत हुई थी. लेकिन अब यह बीमारी उत्तराखंड और उत्तर प्रदेश तक जा पहुंची है. यूपी के फैजुल्लागंज में बड़ी संख्या में सुअर मारे गए. इसके बाद उत्तर प्रदेश सरकार ने स्वास्थ्य विभाग की टीमों को अलर्ट जारी किया था. जांच के लिए भेजे गए सैंपल की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है. जानकारों के मुताबिक अफ्रीकी स्वाइन फ्लू तेजी के साथ फैलने वाली बीमारी है. इसकी चपेट में आने से बड़ी आबादी खत्म हो सकती है. और ऐसे में जरूरत इस बात को लेकर इस बीमारी से निपटने के लिए तत्काल कदम उठाए जाएं.

ये भी पढ़ें- नेशनल हेराल्ड केस : सोनिया गांधी से पूछताछ पर कांग्रेस का प्रदर्शन, बीजेपी बोली ‘राजमाता’ बयान क्यों नहीं देतीं

बाकी जगह न फैल जाए बीमारी
अज्ञात बीमारी से अचानक बड़ी संख्या में सुअर मरने के बाद उत्तर प्रदेश में  सुअरों को मारकर दफना दिया गया ताकि बीमारी को फैलने से रोका जा सके. हालांकि अब इस पूरे मामले को लेकर अलर्ट जारी है. खतरा इस बात का है कि नार्थ ईस्ट से शुरू हुई बीमारी उत्तराखंड उत्तर प्रदेश के रास्ते बाकी देश में न फैल जाए.

Tags: Madhya pradesh latest news, Pig, Swine flu



Source link

more recommended stories