क्या दिग्विजय सिंह होंगे कांग्रेस के नये अध्यक्ष, पढ़िए दिलचस्प इनसाइड स्टोरी


भोपाल. कांग्रेस अध्यक्ष पद को लेकर बरकरार सस्पेंस हर दिन नई करवट ले रहा है. एक बार फिर पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस के सीनियर लीडर दिग्विजय सिंह के नाम की भी एंट्री हो गयी है. उनका नाम पार्टी अध्यक्ष की रेस में आगे आ गया है. पार्टी हाईकमान ने दिग्विजय सिंह को दिल्ली बुलाया है. दिग्विजय सिंह इस समय राहुल गांधी की भारत जोड़ो यात्रा में केरल के मल्लपुरम में हैं. पार्टी आलाकमान के बुलावे पर वो देर शाम दिल्ली पहुंच रहे हैं.

कांग्रेस अध्यक्ष पद का चुनाव किसी आम चुनाव से भी ज्यादा कठिन हो गया है. राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत, शशि थरूर के बाद अब अचानक एमपी के पूर्व सीएम और वर्तमान राज्यसभा सदस्य दिग्विजय सिंह का नाम सुर्खियों में है. खबर तो ये भी है कि वो पार्टी आलाकमान के निर्देश पर नामांकन पत्र भी दाखिल कर सकते हैं.

दिग्विजय सिंह के नाम ने सबको चौंकाया
कांग्रेस अध्यक्ष पद चुनाव के लिए मचे घमासान या कहें भारी उठापटक के बीच दिग्विजय सिंह का नाम सबको चौंका रहा है. सोनिया गांधी के भरोसेमंद पीसीसी चीफ कमलनाथ के दिल्ली बुलावे के बाद अब दिग्विजय सिंह का नाम सामने आया है. कमलनाथ ने ही उनका नाम सोनिया गांधी को सुझाया है. सोनिया गांधी ने उन्हें फौरन दिल्ली बुला लिया है. दिग्विजय सिंह आज दिल्ली पहुंच रहे हैं. सूत्रों के मुताबिक दिग्विजय सिंह कल या फिर 30 सितंबर को पार्टी अध्यक्ष के लिए अपना पर्चा भर सकते हैं.

ये भी पढ़ें- पीएफआई पर प्रतिबंध : कांग्रेस ने पूछा-अब तक क्या कर रही थी सरकार, इतनी देर क्यों?

राजस्थान के ड्रामे ने गहलोत को पीछे किया
कांग्रेस अध्यक्ष पद के लिए गांधी परिवार के सबसे करीबी अशोक गहलोत के नाम की चर्चा शुरू से थी. लेकिन इस बीच राजस्थान में हुए राजनीतिक ड्रामे के बाद अब उनके नाम पर संशय है. पार्टी किसी ऐसे चेहरे को आगे लाने की कवायद में जो नेहरू-गांधी परिवार के प्रति वफादार हो लेकिन पार्टी के अंदर भी सर्वमान्य हो. कमलनाथ के सुझाव पर इसमें दिग्विजय सिंह का नाम सबसे आगे आया है.

राहुल गांधी के गुडबुक्स में
कांग्रेस के सूत्रों के मुताबिक राहुल गांधी की भारत जोड़ो यात्रा के प्रभारी दिग्विजय सिंह 7 सितंबर से राहुल गांधी के लगातार संपर्क में हैं. जिस तरीके से राहुल गांधी की भारत जोड़ो यात्रा को समर्थन मिल रहा है उससे दिग्विजय सिंह के नंबर गांधी परिवार में और बढ़ गए हैं. यही वजह है कि अब पार्टी अध्यक्ष के लिए दिग्विजय सिंह का नाम रेस में सबसे ऊपर आ गया है. कांग्रेस अध्यक्ष पद चुनाव के लिए नामांकन दाखिल करने की आखिरी तारीख 30 सितंबर है. ऐसे में अगले 2 दिन में होने वाले नॉमिनेशन से तय हो जाएगा कि कांग्रेस अध्यक्ष की दौड़ में कौन-कौन से चेहरे हैं.

मध्य प्रदेश नहीं छोड़ेंगे कमलनाथ
कमलनाथ ने आज मीडिया से चर्चा में उन अटकलों पर विराम लगा दिया जिसमें उनके नाम की चर्चा भी अध्यक्ष पद के लिए थी. उन्होंने कहा- मैं फिलहाल मध्यप्रदेश नहीं छोड़ना चाहता हूं. अगले विधानसभा चुनाव में अब 12 महीने बचे हैं. यदि कोई जिम्मेदारी लेता हूं तो मध्य प्रदेश से ध्यान हट जाएगा. मेरा पूरा फोकस मध्य प्रदेश पर है. कमलनाथ ने राहुल गांधी के नाम की चर्चा की थी लेकिन राहुल इसके लिए तैयार नहीं हैं. कमलनाथ ने कहा पार्टी अध्यक्ष को लेकर अशोक गहलोत से बात हुई है. उन्होंने कहा है कि मैंने तो बैठक बुलाई थी. कुछ लोगों ने अनुशासनहीनता की है. उनको शौकाज नोटिस जारी किया गया है. पर्यवेक्षकों ने अपनी रिपोर्ट दे दी है.

कांग्रेस के नये तारणहार बनेंगे दिग्विजय
मतलब साफ है लंबे समय तक मध्य प्रदेश विधानसभा के सदस्य, लोकसभा सदस्य, पीसीसी चीफ, 10 साल मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री और अब राज्यसभा सदस्य दिग्विजय सिंह पार्टी के लिए नए तारणहार के रूप में सामने आते दिख रहे हैं. देखना भी यह भी दिलचस्प होगा कि क्या वाकई में दिग्विजय सिंह के हाथ में कांग्रेस की कमान होगी.

Tags: All India Congress Committee, Digvijay singh, Interim President Sonia Gandhi, Kamal nath



Source link

more recommended stories