किशोरी के चक्कर मे युवक गया था जेल, अब जमानत मिलते ही किशोरी को लेकर भागा, जानें पूरा मामला ?

गोरखपुर। महराजगंज जिले में दो वर्ष पूर्व किशोरी को भगाए जाने के आरोप में जेल गए आरोपित को जेल से जमानत मिली, जेल से आने के बाद कुछ दिनों तक वह शांत रहा और दो सप्ताह पूर्व फिर किशोरी को लेकर चला गया। पिछला मामला कोर्ट में लंबित था और उसमें पीड़‍िता का बयान दर्ज होना था, उसके परिजन ने इस बार साजिश के तहत किशोरी को गायब करने का आरोप लगाते हुए मुख्य आरोपित समेत चार लोगों पर मुकदमा दर्ज कराया है। पुलिस अब फिर आरोपित की गिरफ्तारी में जुट गई है।
सदर कोतवाली के एक गांव निवासी आरोपित कमलेश 24 जून, 2019 को गांव की ही 14 वर्षीय किशोरी को अपने साथ लेकर कहीं चला गया था। इस मामले में उसकी मां ने कोतवाली में नाबालिग किशोरी को बहला-फुसलाकर ले जाने और उसका शोषण किए जाने के मामले में मुकदमा दर्ज कराया था। पुलिस ने 2019 में ही किशोरी की बरामदगी करते हुए आरोपित को जेल भेज दिया था। जांच के बाद पुलिस ने लड़की को ले जाने व उसके शोषण के मामले में कोर्ट में चार्जशीट फाइल की थी। कोर्ट में मुकदमा ट्रायल पर चल रहा था।
आने वाले दिनों में अब पीड़‍िता की गवाही भी होने वाली थी। उधर वर्ष 2020 में जमानत पर जेल से बाहर आ गया था। पीड़‍िता की मां का आरोप है कि दो सप्ताह पूर्व आरोपित पुन: गांव के तीन अन्य लोगों के सहयोग से उसकी पुत्री को लेकर कहीं चला गया है। मां ने मामले में अपने पुत्री की बरामदगी के लिए पुलिस से गुहार लगाई है। सदर कोतवाल मनीष सिंह यादव ने बताया कि मां की तहरीर पर मुख्य आरोपित कमलेश के अलावा सहयोगी रामनाथ, शैलेष व कांति देवी के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर जांच की जा रही है।

more recommended stories