खुशखबरी: सर्दियों में कम हो सकते हैं अंडे के रेट, जानें वजह


नोएडा. आजकल मुर्गी का अंडा (Egg) अखबार की सुर्खियां बना हुआ है. खासतौर पर यूपी में अफसर कोल्ड स्टोरेज (Cold Storage) में अंडा तलाश रहे हैं. अंडा मिलने पर उसे सीज किया जा रहा है या फेंका जा रहा है. अंडे का यह फंडा अब कोर्ट में पहुंच गया है. जानकारों की मानें तो अगर नियमानुसार अंडा बेचने का फैसला आता है तो आने वाली सर्दियों में सस्ता अंडा खाने को मिल सकता है. इतना ही नहीं पोल्ट्री फार्म (Poultry Farm) मालिक की भी बल्ले-बल्ले हो जाएगी. साथ ही अच्छा और हेल्दी अंडा खाने को मिलेगा. गौरतलब रहे यूपी सरकार (UP Government) ने कोल्ड स्टोरेज में नियम विरुद्ध अंडा रखे जाने के खिलाफ जांच करने के आदेश दिए हैं.

रेट घटाने-बढ़ाने को कोल्ड स्टोरेज में रखा जाता है अंडा

यूपी एग एसोसिएशन के अध्यक्ष नवाब अली का कहना है, “एग ट्रेडर्स का एक वर्ग आए दिन अंडे की सप्लाई को प्रभावित करता है. ऐसे लोग अंडे की खरीदारी रोककर उसके दाम गिरा देते हैं. जब अंडा किसान बाजार में अंडा लेकर आता है तो यह उस दिन के रेट से 15-20 रुपये प्रति सैकड़ा कम खरीदते हैं. क्योंकि किसान को मुर्गी के लिए दाना भी खरीदना है तो वो इनके जाल में फंसकर सस्ता अंडा बेच जाता है. यह लोग कई दिन तक इसी तरह से अंडा खरीदकर कोल्ड स्टोरेज में रखते रहते हैं. और जब कोल्ड से अंडा निकालना होता है तो दाम बढ़ा देते हैं. उस वक्त भी कोल्ड का अंडा पहले बिकता है और किसान का बाद में. लेकिन फिर भी थोड़े से दिन के लिए ही सही, लेकिन किसान को अंडे का सही दाम मिल जाता है.”

कोल्ड स्टोरेज में अंडा रखने के यह हैं नियम

न्यूज18 हिंदी से बात करते हुए डिस्ट्रिक्ट हॉर्टिकल्चर अधिकारी, आगरा देवेश मित्तल ने बताया, “आलू-सब्जी और फलों को कोल्ड स्टोरेज में रखने के लिए अलग-अलग तापमान की जरूरत होती है. वहीं अंडे के लिए भी अलग तापमान चाहिए होता है. इतना ही नहीं अंडे को कोल्ड में लाने से पहले भी कुछ मानकों का पालन करना होता है. जैसे अंडा ट्रे में नहीं गत्ते के बाक्स में पैक होना चाहिए. जांच के बाद अंडे को सर्टिफिकेट मिला होना चाहिए. अंडा एक अलग चैम्बर में रखा जाएगा.

अंडे के साथ फल-सब्जी नहीं रखी जाएंगी. कोल्ड में रखे जाने वाले अंडे के लिए 4 से 7 डिग्री तापमान और 75 से 80 फीसद ह्यूमिडिटी का होना जरूरी है. “पोल्ट्री के जानकार मनीष शर्मा का कहना है, “अभी हो यह रहा है कि सस्ते के चक्कर में बिना मानकों का पालन किए अंडे को खुली ट्रे में कोल्ड के अंदर रखा जा रहा है. इस तरह से अंडे की क्वालिटी खराब हो रही है, साथ ही अंडा खराब होने से खाने वाले को भी नुकसान पहुंच रहा है.”

यूपी को हर रोज खाने के लिए चाहिए 2 करोड़

यूपी पोल्ट्री फार्म एसोसिएशन के अध्यक्ष नवाब अली का कहना है, “यूपी को सीजन में हर रोज करीब दो करोड़ अंडा चाहिए. अगर ऑफ सीजन की बात करें तो डिमांड 1.5 करोड़ पर आ जाती है. जबकि यूपी में अंडा उत्पादन की बात करें तो 80 लाख से लेकर एक करोड़ तक है. हालांकि इस बार किसानों ने रिकॉर्ड 1.5 करोड़ के करीब अंडा रोजाना बाजार में बेचा था.

इसके पीछे वजह यह थी कि नए-नए किसान बाजार में आए और एक-दो सीजन काम करने के बाद घाटा होने पर बंद करके चले गए. ऐसे में जब अंडे की कमी होती है तो ट्रेडर्स पंजाब के अलावा एक-दो दूसरे राज्यों से अंडा मंगाकर डिमांड को पूरा करते हैं. ऐसे में जब डिमांड ज्यादा है तो अंडे को कोल्ड में रखने की जरूरत ही नहीं है. अंडा तो फार्म से सीधे बाजार में आना चाहिए, जिससे किसान के साथ ही ग्राहक को भी फायदा होगा.”

Tags: Egg Price in India, Poultry Farm, UP Government



Source link

more recommended stories