खुशखबरी! अमेठी से दिल्ली के लिए जल्द शुरू होगी हवाई सेवा, फुरसतगंज एयरपोर्ट के विकास के लिए 12 करोड़ आवंटित


अमेठी. यूपी के अमेठीवासियों का अपने ही जिले से आसमान में घूमने का सपना जल्द ही साकार होने वाला है. अमेठी के लोग जल्द अपने ही जिले से कई शहरों के लिए उड़ान की सुविधा का लाभ ले सकेंगे. उड़ान सेवा शुरू हो सके इसके लिए फुरसतगंज स्थित इंदिरा गांधी राष्ट्रीय उड़ान अकादमी के एयरपोर्ट पर टर्मिनल बनाया जाएगा. इसके लिए केंद्रीय मंत्री और अमेठी सांसद स्मृति ईरानी की सक्रियता के बाद नागरिक उड्डयन मंत्रालय ने 12 करोड़ 30 लाख रुपये टर्मिनल निर्माण के लिए आवंटित कर दिया है.

केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी साल 2019 में अमेठी से सांसद बनी. उसके बाद उन्होंने जुलाई 2019 को तत्कालीन केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री हरदीप सिंह पुरी को एक चिट्टी लिखी थी. इस चिट्ठी में अमेठी के फुरसतगंज स्थित इंदिरा गांधी राष्ट्रीय उड़ान अकादमी के एयरपोर्ट पर टर्मिनल बनाकर पहले चरण में लखनऊ, वाराणसी और दिल्ली के लिए नियमित कॉमर्शियल उड़ान सेवा शुरू करने का अनुरोध किया गया. चिट्टी लिखने के बाद से स्मृति ईरानी उड़ान सेवा शुरू कराने को लेकर लगातार प्रयासरत थीं. उनके प्रयासों के चलते ही नागरिक उड्डयन मंत्रालय के अधीन काम करने वाले एयरपोर्ट अथॉरिटी ऑफ इंडिया ने फुरसतगंज एयरपोर्ट पर टर्मिनल निर्माण को स्वीकृति देते हुए 12 करोड़ 30 लाख 73 हजार रुपये की धनराशि आवंटित की है.

एयरपोर्ट अथॉरिटी ऑफ इंडिया ने फुरसतगंज एयरपोर्ट पर टर्मिनल से कॉमर्शिलय उड़ान शुरू हो सके, इसके लिए जल्द निर्माण शुरू होने की उम्मीद है. स्वीकृत काम शुरू होने के बाद कोई बाधा ना आए इसके लिए शनिवार को विमानन मंत्रालय के सचिव राजीव बंसल और संयुक्त सचिव प्रमोद कुमार ठाकुर सहित अन्य विभागीय अधिकारियों ने अमेठी के इग्रुवा पहुंचकर आवंटित जमीन और अन्य सुविधाओं का निरीक्षण किया.  साथ ही बैठक कर उड़ान सेवा से जुड़ी सुविधाओं पर विस्तार से चर्चा की.

अमेठीवालों के लिए अब दिल्ली दूर नहीं होगी. अमेठी वाले अब कई घंटों का सफर कुछ घंटों में पूरा करेंगे. अमेठी सांसद व केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने 2019 में नागरिक उड्डयन मंत्रालय को एक चिट्ठी लिखी थी उस चिट्ठी में उन्होंने जिक्र किया था कि अमेठी का फुरसतगंज हवाई अड्डा 91 सीट की क्षमता वाली एटीआर की उड़ान के लिए सक्षम है. भाजपा सरकार के इस कदम से अमेठी के अलावा आसपास के जिलों को लाभ मिलेगा. साथ ही इस कदम से केंद्र और प्रदेश सरकार की महत्वकांक्षी योजनाओं को साकार करने में भी मदद मिलेगी.

करीब 12 करोड़ की लागत से डेवलप होगा एयरपोर्ट

अमेठी के फुरसतगंज एयरपोर्ट के विकास पर तकरीबन 12 करोड़ 73 हजार रुपए खर्च किए जाएंगे. जिसमें टर्मिनल बिल्डिंग, एयरपोर्ट सिस्टम, यात्रियों के बैठने के लिए हॉल, अग्निशमन, कार पार्किंग के साथ अन्य संबंधित विकास कार्य कराए जाएंगे. इग्रुवा स्थित हाइवे का रनवे फिलहाल दो किलोमीटर लंबा है. इस पर अभी वीआईपी और वीवीआईपी के अलावा विभागीय व इमरजेंसी लैंडिंग की सुविधा है. इसका टेंडर रायबरेली जिले की भार्गव फर्म को मिला है.

1986 में स्थापित हुई थी इंदिरा गांधी राष्ट्रीय उड़ान एकेडमी

1986 में स्थापित इंदिरा गांधी राष्ट्रीय उड़ान एकेडमी में पायलट तैयार करने का काम किया जाता है. इस उड़ान एकेडमी में हर साल 200 पायलट को प्रशिक्षण दिया जाता है. फुरसतगंज स्थित इंदिरा गांधी राष्ट्रीय उड़ान एकेडमी परिसर में बने 6 हजार मीटर लंबे व डेढ़ सौ मीटर चौड़े रनवे पॉइंट पर शुरू से ही वीआईपी विमानों की लैंडिंग होती रही है. यहां पर आपात स्थिति में भी विमानों की लैंडिंग कराने की पूरी व्यवस्था है.

अमेठी सांसद व केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी के प्रतिनिधि विजय गुप्ता ने बताया कि मंत्री के प्रयासों से शुरू हो रही उड़ान सेवा अमेठी के साथ-साथ आसपास के जनपदों के लिए वरदान साबित होगी. इस सेवा के शुरू होने से उद्योग धंधों को बढ़ावा मिलेगा, तो वही आवागमन भी सुगम होगा. साथ ही अमेठी के साथ सुल्तानपुर, बाराबंकी, रायबरेली और प्रतापगढ़ जिले के लोगों को भी मिलेगा.

Tags: Amethi news, Domestic Flights, Smriti Irani, UP news



Source link

more recommended stories