काशी धर्म परिषद की बैठक में संत बोले- गला काटने वाले इस्लामी जिहादियों के खिलाफ हो कड़ी कार्रवाई


वाराणसी. वाराणसी के लमही स्थित सुभाष भवन में रविवार को काशी धर्म परिषद की बैठक हुई. पातालपुरी मठ के पीठाधीश्वर महंत बालक दास की अध्यक्षता में आठ प्रस्ताव पारित हुए. काशी धर्म परिषद के महासचिव पंडित ऋषि द्विवेदी ने कहा कि बार-बार इस्लाम के नाम पर यह कहा गया कि गुस्ताखे रसूल की यही सजा सर तन से जुदा, सर धड़ से जुदा…. काशी धर्म परिषद ने सर्वसम्मति से माना कि उदयपुर में कन्हैया लाल और अमरावती में उमेश प्रह्लाद राव का गला काटने की घटना इसी नारे से प्रेरित है.

यह नारा लगाने वाले ही हिंदुओं के गला काटने जैसी नृशंस हत्या के लिए पूर्णतः जिम्मेदार हैं. इसलिए सरकार और अदालत संज्ञान लेकर इन नारों से हत्या के लिए उकसाने वालों के खिलाफ कड़ी से कड़ी कार्रवाई करे.

बैठक में पारित हुए 8 प्रस्ताव
1- इस्लामी जिहादियों द्वारा कन्हैया लाल और अमरावती में उमेश प्रह्लाद राव का गला काटने की घटना गुस्ताखे रसूल की यही सजा, सर तन से जुदा, सर धड़ से जुदा के नारे से प्रेरित है। यह नारा लगाने वाले ही हिंदुओं के गला काटने जैसी घृणित हत्या के लिए पूर्णतः जिम्मेदार हैं.

2-हिंदू देवी-देवताओं के खिलाफ टिप्पणी करने वालों के खिलाफ एक साथ एफआईआर दर्ज कराई जाएगी.

3-सावन के पवित्र माह को देखते हुए प्रशासन ज्ञानवापी मंदिर में पवित्रता के सिद्धांत को लागू करे। ऐसे व्यक्ति प्रवेश न करें जो मांसाहार का सेवन करते हों.

4-आदि विश्वेश्वर पर जल चढ़ाने की कोर्ट अनुमति दे.

5-इस्लामी जिहादियों और आतंकवादियों के विरुद्ध अभियान चलाने वाले काशी धर्म परिषद के अध्यक्ष महंत बालक दास को उच्च स्तरीय सुरक्षा दी जाए.

6- खुलेआम हत्या करने का नारा लगाने वालों को जेल में डाला जाए.

7-शिवलिंग को फव्वारा कहने वाले मौलानाओं के खिलाफ कड़ी कार्रवाई हो.

8- देशभर में साजिश के तहत फैलाई जा रही इस्लाम के नाम पर हिंसा को तत्काल रोका जाए. कट्टरपंथी मौलानाओं को भड़काने के आरोप में जेल में डाला जाए.

Tags: Bjp government, CM Yogi, Islamic Terrorism, UP news, UP Police उत्तर प्रदेश, Varanasi news, Varanasi Police, Yogi government



Source link

more recommended stories