Kasganj Murder Case: कासगंज पुलिस के डॉग ‘जॉनी’ की मदद से सुलझी ब्लाइंड मर्डर मिस्ट्री, SP ने किया सम्मानित


कासगंज. उत्तरप्रदेश की कासगंज पुलिस (Kasganj Police) ने एक खोजी कुत्ते की मदद से एक ब्लाइंड मर्डर मिस्ट्री को सॉल्व कर लिया है. दरअसल बीते 10 अक्टूबर को कासगंज पुलिस को दुर्वेश कुमार नाम के युवक के गायब होने की जानकारी मिली थी. इसके बाद पुलिस ने दुर्वेश की खोजबीन की तो वह ढकराई से धुवियाई जाने वाले रोड पर बाजरा के खेत में मृत अवस्था में पड़ा मिला था. पुलिस के लिए एक तरह से इस ब्लाइंड केस को सॉल्व करने में काफी परेशानी हो रही थी, जिसके बाद डॉग स्क्वॉड के जॉनी डॉग की मदद से पुलिस ने इस केस की गुत्थी सुलझा ली.

कासगंज पुलिस ने इस मामले में तीनों आरोपियों को गिरफ्तार करने के साथ ही किशोर से लूटी गई ट्रैक्टर ट्राली, चक्की, मोबाइल व नकदी बरामद कर ली. इसके लिए एसपी ने जॉनी को सम्मानित कर पूरी डॉग स्क्वाइड टीम को 25 हजार रुपये का इनाम दिया गया.

जॉनी डॉग की भूमिका अहम 

बताया जाता है कि जांच में लगी टीम को डॉग स्क्वायड की मदद से अहम सुराग मिले. डॉग स्क्वॉड के जॉनी डॉग की मदद से मौके पर मृतक के गले में बंधी रस्सी व मृतक के शव की गंध से संदिग्ध के निवास स्थान तक पहुंचा जा सका. वहीं जानी की मदद से इसके बाद सिढपुरा थाना में खडे ट्रैक्टर के पास पुलिस पहुंच सकी है. ऐसे तेज तर्रार डॉग की काबिलियत की तारीफ करते हुए यूपी पुलिस ने एक ट्वीट भी किया है, जिसमें पुलिस ने बताया कि कैसे इस ब्लाइंड मर्डर मिस्ट्री को सॉल्व करने में जानी ने अहम भूमिका निभाई.

पुलिस ने इन लोगों को किया गिरफ्तार 

इस मामले में पुलिस ने पुलिस द्वारा मुखबिर खास की सूचना पर 03 शातिर अभियुक्तगण 1. आकाश चौहान पुत्र सतेन्द्र नि0 ग्राम ढकराई थाना गंजडुण्डवारा जनपद कासगंज 2. धीरेन्द्र पुत्र रविन्द्र नि0 ग्राम ढकरई थाना गंजडुण्डवारा जनपद कासगंज 3. राहुल चौहान पुत्र राजेन्द्र नि0 ग्राम नौरी थाना सिढपुरा हाल नि0 ग्राम ढकरई थाना गंज0 जनपद कासगंज को कादरगंज रोड बूडी गंगा के पुल से समय करीब 10 बजे गिरफ्तार करने में सफलता प्राप्त की गयी, जिनके कब्जे से एक ट्रैक्टर मय आटा चक्की, मृतक दुर्वेश का ओपो कम्पनी का मोबाइल व गेहूं बेचकर मिले 1350 रु बरामद किये गये.

आरोपियों ने स्वीकार किया जुर्म 

पूछताछ के दौरान आरोपियों ने बताया कि हमने ढकरई व धुबियाई मार्ग पर ट्रैक्टर व आटा चक्की के साथ दुर्वेश को पकड़ लिया था और आगे ले जाकर हम तीनों ने मिलकर दुर्वेश की गला घोटकर हत्या कर दी थी. उसकी लाश को सड़क के किनारे बाजरे के खेत में छिपा दिया था औऱ ट्रैक्टर व आटा चक्की को हम तीनों ले गये थे जो हमने सिढपुरा में खड़ा कर दिया था. ट्रैक्टर व आटा चक्की हमने बेचने के लिये लूटी थी.

48 घंटे के अंदर किया खुलासा 

बता दें, पुलिस को बीते अक्टूबर को सूचना मिली थी कि दुर्वेश घर से ट्रैक्टर व आटा चक्की लेकर निकला था जो कि वापस नहीं आया. इसके बाद कासगंज पुलिस ने मामले की जांच शुरू की. पुलिस अधीक्षक एसपी बीबीजीटीएस मूर्ति ने घटना स्थल का निरीक्षण किया और घटना के अतिशीघ्र खुलासे के लिए स्थानीय पुलिस, सर्विलांस व डॉग स्क्वायड की एक टीम गठित की गयी. गठित टीम ने महज 48 घण्टे के अन्दर हत्या की घटना का खुलासा कर दिया.

Tags: Kasganj news, UP police, Uttarpradesh news



Source link