जहर खाकर युवक ने की आत्महत्या, मरने से पहले छोड़े 3 सुसाइड नोट; पुलिस पर लगाए ये आरोप


हाइलाइट्स

मृतक ओमपाल के साथ पड़ोसी युवक ने की थी मारपीट
मृतक को देते थे SC-ST एक्ट लगाने की धमकी
मृतक ने सुसाइड नोट में पुलिस पर भी उठाए सवाल

रिपोर्ट- सैयद कायम रज़ा
पीलीभीत: उत्तर प्रदेश के पीलीभीत में एक व्यक्ति ने सल्फास की 10 गोलियां खाकर आत्महत्या कर ली. जिसके बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने सुसाइड नोट बरामद किया. मरने से पहले युवक एक नहीं बल्कि तीन सुसाइड नोट छोड़कर गया है. सुसाइड नोट में व्यक्ति ने जहां पड़ोसी युवक पर SC-ST एक्ट में फंसाए जाने की धमकी देने का आरोप लगाया है, वहीं उसने पुलिस पर भी गंभीर आरोप लगाया है. पुलिस पर आरोप लगे सुसाइड नोट बरामद होने के बाद स्थानीय थाने में हड़कंप मचा हुआ है.

पूरा मामला थाना बीसलपुर क्षेत्र के ग्राम नगरिया फतेहपुर का है. यहां के निवासी गौरव ने बीसलपुर पुलिस को तहरीर देकर कहा कि उसके पिता ओमपाल, बीसलपुर में पीलीभीत रोड बारह पत्थर पर साइकिल की दुकान करते थे. वहीं पास में ही, गांव के ही रहने बाले श्याम सुंदर राना की दुकान भी  है. जिनके बेटे रविंद्र राना उर्फ टिंकू और अरविंद राना उर्फ रिंकू भी दुकान पर बैठते हैं. गौरव ने आरोप लगाया कि टिंकू और रिंकू उसके पिता ओमपाल को परेशान करते थे. बात बात पर एससी-एसटी एक्ट के झूठे मुकदमे में फंसाने की धमकी देते थे. जिसकी वजह से उसके पिता ओमपाल परेशान रहते थे.

शिकायत के बावजूद पुलिस ने कुछ नहीं किया
गौरव ने बताया कि उसके पिता ने इसकी शिकायत पुलिस को भी दी थी. लेकिन पुलिस ने इसकी सुध नहीं ली. पुलिस से शिकायत करने से नाराज टिंकू-रिंकू ने ओमपाल को बीते 30 सितंबर को शाम 5:30 बजे अपने पास बुलाया था. जहां उन्होंने ओमपाल के साथ थप्पड़ और घूंसों से मार पीट की थी. मारपीट से हुए अपमान को उसके पिता बर्दास्त नहीं कर सके और अपनी दुकान पर आकर 3 सुसाइड नोट लिखकर सल्फास की 10 गोलियां खा ली. जिस कारण उनकी मृत्यु हो गई.

मृतक के यहां से बरामद सुसाइड नोट में से एक सुसाइड नोट कोतवाली के दरोगा विकास त्यागी पर है. मृतक के पिता के बयानों की वीडियो रिकॉर्डिंग भी विकास त्यागी और कस्बा इंचार्ज सोहन सिंह के पास है. उधर जो सुसाइड नोट सामने आया है, उसमें लिखा है कि जिस आदमी ने उसे मारा है, उसके सब रिश्तेदार पुलिस में हैं. इसलिए वह उनका कुछ नहीं कर पा रहा है.

SC-ST का दुरुपयोग करता है आरोपी
मृतक ओमपाल ने सुसाइड लेटर में, अपनी मौत का जिम्मेदार श्याम सुंदर के लड़के पहलवान को बताया है. सुसाइड नोट में उसने आरोपी पर अनुसूचित जाति के फायदा उठाने की बात कही है. मृतक ने सुसाइड नोट में लिखा कि, आज मारा है, कल भी मारेगा. पढ़े लिखे होने का ढोंग करता है पर वास्तव में गुंडा है. सुसाइड नोट में नीचे लिखा है कि पुलिस इस कदर गिर चुकी है कि अपने रिश्तेदार को बचाने के लिए कुछ भी कर सकती है. इसलिए मैं दस की दस गोलियां खा रहा हूं.

पुलिस बोली- सुसाइड नोट की कर रहे जांच 
घटना के बाद थाना इंस्पेक्टर प्रवीण कुमार में इस मामले में कहा कि सुसाइड नोट की जांच की जा रही है. अगर जांच में आरोप सही पाया जायेगा तो FIR दर्ज कर ली जाएगी. इस घटना में जब बीसलपुर पुलिस की फजीहत होने लगी, तब बीती देर रात, 6 सितंबर को मामला दर्ज किया गया.

Tags: Chief Minister Yogi Adityanath, CM Yogi Aditya Nath, Pilibhit news, Uttarpradesh news



Source link

more recommended stories