झांसी:-बुंदेलखंड विश्वविद्यालय और काफरी के बीच हुआ करार, कृषि विज्ञान के विद्यार्थियों को मिलेंगे ये फायदे


(रिपोर्ट – शाश्वत सिंह)

बुंदेलखंड विश्वविद्यालय में कृषि विज्ञान की पढ़ाई कर रहे विद्यार्थियों के लिए एक अच्छी खबर सामने आई है.बुंदेलखंड विश्वविद्यालय और सेंट्रल एग्रो फॉरेस्ट्री रिसर्च इंस्टीट्यूट (CAFRI) के बीच एक करार किया गया है.इस करार के तहत अब बुंदेलखंड विश्वविद्यालय के विद्यार्थी भी एग्रोफोरेस्ट्री इंस्टिट्यूट में जाकर पढ़ाई कर सकेंगे.कृषि विज्ञान में होने वाले नए शोध के बारे में यह विद्यार्थी जानकारी प्राप्त करेंगे.


शोध और अनुसंधान पर बेहतर कार्य होंगे
बुंदेलखंड विश्वविद्यालय के कुलपति प्रोफेसर मुकेश पांडेय की मौजूदगी में काफरी के निदेशक डॉ अरुणाचलम और विश्वविद्यालय के कुलसचिव विनय कुमार सिंह ने करार पर हस्ताक्षर किए. डॉ. अरुणाचलम ने बताया कि अब बुंदेलखंड विश्वविद्यालय के विद्यार्थी भी काफरी के संसाधनों का इस्तेमाल कर सकेंगे. शोध और अनुसंधान पर बेहतर कार्य कर सकेंगे.दुनिया भर के विशेषज्ञ विद्यार्थियों को एग्रोफोरेस्ट्री के क्षेत्र में कैसे बेहतर काम किया जाए इसके बारे में बताएंगे.

फैकल्टी एक्सचेंज से विद्यार्थियों को होगा फायदा

बुंदेलखंड विश्वविद्यालय के कुलपति प्रोफेसर मुकेश पांडेय ने कहा कि इस करार के बाद शिक्षा और शोध के क्षेत्र में विस्तार की गतिविधियों को प्रोत्साहन मिलेगा.इसके अंतर्गत इंटीग्रेटेड एग्रो सिस्टम और प्राकृतिक संसाधनों पर आधारित एनवायरमेंटल सस्टेनेबिलिटी के क्षेत्र में दोनों संस्थान कार्य करेंगे.फैकल्टी एक्सचेंज के साथ ही छात्रों को फील्ड पर कार्य करने के अवसर प्राप्त होंगे.



Source link

more recommended stories