Jhansi Income Tax Raid: 1.50 करोड़ कैश, 9 किलो सोने के आभूषण समेत करोड़ों की बेनामी संपत्ति मिलने का दावा


हाइलाइट्स

इनकम टैक्स के सूत्रों का दावा है कि 600 करोड़ से अधिक की बेनामी संपत्ति मिली
पिछले 6 महीने से इनकम टैक्स डिपार्टमेंट कर रहा था सभी की रेकी

झांसी. इनकम टैक्स की टीम ने पांच दिनों तक झांसी के बड़े कारोबारियों, बिल्डरों और व्यापारियों के यहां छापा मारकर बड़ी सफलता हासिल की है. नाम नहीं छपने और पहचान उजागर नहीं करने की शर्त पर इनकम टैक्स के एक अधिकारी ने न्यूज 18 से छापे से जुड़ी अहम जानकारी देते हुए बताया कि इस पूरी कार्रवाई में इनकम टैक्स की टीम को व्यापारियों, कारोबारियों, बिल्डर्स, रियल स्टेट कारोबारियों और घनाराम ग्रुप के पास से डेढ़ करोड़ रुपए से अधिक का बेनामी कैश बरामद हुआ है. साथ ही सभी ने इनकम टैक्स की टीम की पूछताछ में तकरीबन डेढ़ करोड़ रुपए की टैक्स चोरी करने की बात कबूल की है.

इसके अलावा सभी बिल्डर्स, कारोबारियों और व्यापारियों के पास से इनकम टैक्स की टीम ने एक डायरी भी बरामद की है, जिसमें तीन सौ करोड़ रुपए कैश ट्रांजेक्शन करना मिला है. नौ किलोग्राम सोने के बेनामी आभूषण भी इनकम टैक्स टीम के हाथ लगे है. इसके अलावा इनकम टैक्स की टीम ने इन सभी कारोबारियों, व्यापारियों और बिल्डर्स के बीच की सबसे अहम कड़ी सीए दिनेश सेठी के आवास पर भी छापेमारी के बाद उसे सील कर दिया है. सीए के घर छापेमारी में आयकर की टीम ने कई अलमारियों में रखी बिल्डरों, कारोबारियों और व्यापारियों से जुड़ी फाइलें व अहम दस्तावेज भी कब्जे में लिए है. इसके अलावा छापेमारी के दौरान घर से टहलने निकले सीए दिनेश सेठी से इनकम टैक्स विभाग के अधिकारियों ने मेदांता जाकर वारंट पर साइन भी करवा लिए थे. घनाराम ग्रुप के मालिक को भी इनकम टैक्स की टीम ने नोएडा स्थित कंपनी के हेड ऑफिस में नजरबंद करके चार दिनों तक रखने का दावा भी किया है.

सीए दिनेश सेठी के घर से मिले अहम दस्तावेज

इनकम टैक्स के अधिकारी ने ये भी दावा किया है कि जो भी दस्तावेज और फाइलें सीए दिनेश सेठी के घर में मिली है, उनकी जांच के बाद आगे भी झांसी में छापेमारी हो सकती है. इस पूरी छापेमारी के पीछे की कड़ी कानपुर के एक अस्पताल से जुड़ी है. अस्पताल से आयकर की टीम को नौ करोड़ रुपए के बेनामी हिसाब किताब की अहम जानकारी मिलने के बाद यह छापेमारी की गई थी. छह महीने पहले कानपुर से मिली इस अहम जानकारी के आधार पर आयकर विभाग के अधिकारी पिछले छह महीने से लगातार झांसी के बिल्डरों, व्यापारियों, कारोबारियों, घनाराम ग्रुप के मालिक के कार्यालयों, आवासों, होटल, शो रूम समेत तीन दर्जन से अधिक ठिकानों की रेकी करते रहे.

6 महीने से टीम कर रही थी रेकी

इस दौरान आयकर विभाग के अफसर इन सभी लोगों के व्यापार और कारोबार से जुड़ी क्रियाकलापों पर पैनी नजर रख रहे थे. इतना ही नहीं अरबों रुपए की कर चोरी, बेनामी संपत्ति, बेनामी कैश, गोल्ड होने की पुष्टि के बाद आयकर विभाग के अधिकारियों ने गृह मंत्रालय से अनुमति लेकर छापेमारी की जद में आए सभी लोगों के फोन कॉल्स को खुद के सर्विलांस पर लेकर इन सबकी बातचीत को सुनते रहे. पांच दिन की छापेमारी में आयकर की टीम ने प्राइवेट बैंकों में खोले गए चौदह लाकर की छानबीन भी की. कई लाकर्स को आयकर की टीम ने सील भी करवाया. कुल मिलाकर इस पांच दिन की छापेमारी में इनकम टैक्स के अधिकारी ने छह सौ करोड़ से भी ज्यादा की बेनामी संपत्ति, कैश, गोल्ड, टैक्स चोरी करना पकड़ा है

Tags: Income Tax Raids, Jhansi news, UP latest news



Source link

more recommended stories