जब मेरठ की जेल में दिखे द्वापर के श्रीकृष्ण, कंस और कारागार, फिर दोस्ती सिखा गए सुदामा


रिपोर्ट: विशाल भटनागर

मेरठ: भगवान श्रीकृष्ण जी का जन्म कंस मामा के कारागार में हुआ था. इसलिए मेरठ के जिला कारागार में भव्य रूप से भगवान श्रीकृष्ण का जन्मोत्सव मनाया गया. एक तरफ जहां कैदियों ने भगवान श्रीकृष्ण के जन्म उत्सव पर व्रत रखा. वहीं, दूसरी ओर जिला कारागार में बने मंदिर में कृष्णलीला का मंचन हुआ.

भगवान श्री कृष्ण जन्मोत्सव को लेकर विभिन्न मंदिरों में बहुत से कलाकार सजावट के लिए आते हैं. लेकिन जिला कारागार में कृष्ण जन्मोत्सव को लेकर आयोजित हुए कार्यक्रम की पूरी सजावट भी बंदियों द्वारा की गई. इस दौरान कैदियों ने भगवान श्रीकृष्ण की बाललीला पर आधारित कई तरह के कार्यक्रम भी किए. इन कार्यक्रम को देखकर जिला कारागार में मौजूद सभी कैदी भक्ति के माहौल में रंग गए.

872 कैदियों ने रखा था व्रत
जिला कारागार मेरठ के जेल अधीक्षक राकेश कुमार ने बताया कि जिला कारागार में 872 कैदियों ने भगवान श्रीकृष्ण का व्रत रखा था, जिसमें 800 पुरुष और 72 महिलाएं शामिल हैं. उन्होंने बताया कि सभी व्रत वाले बंदियों के लिए विशेष रूप से भोजन की भी व्यवस्था की गई थी, जिससे कि वे विधि-विधान के साथ भगवान की पूजा करते हुए अपना व्रत खोल सकें.

कृष्ण-सुदामा की दोस्ती ने किया भावुक
जिला कारागार में ही कैदियों द्वारा कई तरह की झांकियों का आयोजन किया गया. इसी कड़ी में सुदामा का अभिनय करने वाले कैदी के अभिनय ने सभी को भावुक कर दिया. बताते चलें कि जिला कारागार में अब पहले के मुकाबले काफी बदलाव देखने को मिल रहा है. उत्तर प्रदेश शासन के निर्देशानुसार बंदियों में सकारात्मक बदलाव आए, इसलिए विभिन्न सांस्कृतिक कार्यक्रम भी अब जेलों में आयोजित किए जा रहे हैं. इस दौरान जेल अधीक्षक राकेश कुमार, जेलर मनीष कुमार, डिप्टी जेलर नवीन कुमार, डिप्टी जेलर विक्रम सिंह मौजूद रहे.

Tags: Meerut news, Uttar pradesh news



Source link

more recommended stories