इटावा के बड़े व्यवसायी ने गोली मारकर की आत्महत्या, मुलायम परिवार का था करीबी


हाइलाइट्स

राजेश गुप्ता मुलायम सिंह यादव परिवार के काफी करीबी थी
उन्होंने अपनी डबल बैरल बंदूक से पेट्रोल पंप के एक रूम में गोली मारकर आत्महत्या कर ली
पुलिस घटना के बाद पूरे मामले की जांच में लगी है

इटावा. उत्तर प्रदेश के इटावा जिले में फ्रेंड्स कॉलोनी थाना क्षेत्र के अंतर्गत महेरा चुंगी के पास स्थित एक पेट्रोल पंप के मालिक ने गोली मारकर आत्महत्या कर लीय आत्महत्या की वजह का अभी कोई पता नहीं चल पा रहा है. पुलिस आत्महत्या की वजह तलाशने में जुटी हुई है. परिवार इस घटनाक्रम को लेकर के कुछ भी बोलने के लिए तैयार नहीं है. इटावा के एसपी सिटी कपिल देव सिंह ने बताया कि लालाराम पेट्रोल पंप के मालिक राजेश गुप्ता ने अपनी डबल बैरल बंदूक से पेट्रोल पंप के एक रूम में गोली मारकर आत्महत्या कर ली है.

शुरुआती पड़ताल में मामला आत्महत्या का स्पष्ट हो रहा है, इसके बावजूद भी पुलिस की गहनता के साथ में गहन पड़ताल चल रही है. पुलिस ने राजेश गुप्ता के रूम से सुसाइड नोट बरामद करने की कोशिश की है लेकिन कोई भी सुसाइड नोट बरामद नहीं हुआ है. आत्महत्या करने वाले रूम में समाजवादी पार्टी के संस्थापक मुलायम सिंह यादव और उनके बेटे समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव की तस्वीर लगी हुई है. गोली की आवाज सुनने के बाद पेट्रोल पंप पर काम करने वाले लोग उस रूम की ओर भाग करके पहुंचे लेकिन भीतर से रूम का दरवाजा बंद होने के कारण पेट्रोल पंप कर्मियों ने राजेश गुप्ता के परिजनों को इस बात की जानकारी दी.

रूम को तोड़ने के बाद खून से सनी हालत में राजेश गुप्ता को लेकर मुख्यालय के डॉक्टर भीमराव अंबेडकर राजकीय सयुक्त चिकित्सालय पहुंचे, जहां डॉक्टर ने पेट्रोल पंप मालिक राजेश गुप्ता को मृत घोषित करार दिया. पेट्रोल पंप मालिक के आत्महत्या कर लेने की सूचना मिलने के बाद इटावा के एसपी सिटी कपिल देव सिं, पुलिस उपाधीक्षक अमित कुमार सिंह फॉरेंसिक टीम के साथ मौका ए वारदात पर जांच करने के लिए पहुंचे. फॉरेंसिक टीम ने मौका ए वारदात से आत्महत्या से जुड़े हुए कई और तथ्यों को एकजुट किया है.

राजेश गुप्ता के पिता लाला रामप्रकाश गुप्ता मुलायम सिंह यादव के बेहद करीबी रहे हैं. मूल रूप से सैफई के पास स्थित गींजा गांव के रहने वाले थे. राजेश गुप्ता का इटावा में बड़ा बिजनेस है. पेट्रोल पंप कोल्ड स्टोरेज के अलावा मोटर कार एजेंसी भी उनके परिवार के नाम है. राजेश गुप्ता के परिवार को इटावा में उद्योगपति की श्रेणी में शुमार किया जाता है लेकिन राजेश गुप्ता ने गोली मारकर के जब आत्महत्या की तो उसके बाद तरह-तरह के सवाल उठना शुरू हो गए हैं.

Tags: Uttar pradesh crime news, Uttar pradesh latest news, Uttar pradesh news



Source link