ICSE 10th Result: बलरामपुर के पुष्कर त्रिपाठी ने टॉपर्स की लिस्ट में हासिल की जगह, पिता बोले- कभी नहीं सोचा था


हाइलाइट्स

डॉक्टर बनना चाहते हैं पुष्कर
पुष्कर शुरू से ही मेधावी छात्र रहे हैं
माता-पिता को नहीं हो रहा भरोसा

बलरामपुर: ICSE बोर्ड की दसवीं परीक्षा का रिजल्ट रविवार को घोषित किया गया. आईसीएसई दसवीं में इस बार कुल 99.97% छात्र पास हुए. इस बार के रिजल्ट में उत्तर प्रदेश के बलरामपुर जिले के पुष्कर त्रिपाठी ने टॉप कर जिले का नाम देश-प्रदेश में रोशन किया है. पुष्कर की इस उपलब्धि पर उनके माता-पिता समेत सभी परिजनों में खुशी की लहर है. पुष्कर के माता- पिता को यह विश्वास ही नहीं हो पा रहा कि उनके बेटे ने पूरे देश में उन का मान बढ़ाया है. जीसस एंड मैरी कॉलेज के कक्षा 10 के छात्र पुष्कर त्रिपाठी ने 99.80% अंक प्राप्त कर पूरे देश में पहला स्थान प्राप्त किया है.

पुष्कर की इस उपलब्धि ओर पूरा परिवार गर्व कर रहा है. शुरू से ही मेधावी छात्र रहे पुष्कर त्रिपाठी के माता- पिता पेशे से चिकित्सक हैं. परीक्षा परिणाम आने के बाद पुष्कर त्रिपाठी के परिजन को सहसा यह विश्वास ही नहीं हो पा रहा है कि उनके बेटे ने पूरे देश में प्रथम स्थान प्राप्त किया है. पुष्कर त्रिपाठी के पिता डॉ प्रांजल त्रिपाठी और मां डॉ निधि त्रिपाठी पेशे से चिकित्सक हैं और जिला मुख्यालय पर ही इनका नर्सिंग होम संचालित है. परीक्षा परिणाम घोषित होने के बाद पुष्कर को बधाई देने वालों का तांता लग गया.

पूरा परिवार खुशियों से अभिभूत
पुष्कर के पिता डॉ प्रांजल त्रिपाठी ने न्यूज़ 18 से बात करते हुए कहा कि मेरा बेटा शुरू से ही शौम्य और सरल रहा तथा अपनी पढ़ाई को लेकर काफी संवेदनशील रहता है. उन्होंने कहा कि उम्मीद थी कि बेटा अच्छा रिजल्ट लाएगा लेकिन ऑल इंडिया रैंक में टॉप करेगा, इसके बारे में कभी सोचा ही नहीं था. पुष्कर त्रिपाठी की मां डॉ निधि त्रिपाठी ने कहा कि उन्हें विश्वास ही नहीं हो रहा है कि उनका बेटा पूरे देश में टॉप किया है. पुष्कर की उपलब्धि से उनका पूरा परिवार खुशियों से अभिभूत है और गर्व की अनुभूति कर रहा है.

डॉक्टर बनना चाहते हैं पुष्कर
पुष्कर की मां डॉ निधि त्रिपाठी ने बताया की पुष्कर आगे चलकर डॉक्टर बनना चाहता है और उनके पूरे परिवार का बैकग्राउंड बायोलॉजी से जुड़ा रहा है. पुष्कर के बाबा डॉक्टर पीपी त्रिपाठी एमएलके पीजी कॉलेज में बाँटनी के प्रोफ़ेसर रह चुके हैं. जबकि पुष्कर के नाना भी बॉटनी के प्रोफेसर थे. पुष्कर कोटा में रहकर अभी से नीट की तैयारी में जुट गया है. पुष्कर के माता-पिता ने बताया कि वह डॉक्टर बन कर देश और समाज की सेवा करना चाहता है.

Tags: Balrampur, Balrampur news, ICSE, Uttarpradesh news



Source link

more recommended stories