गोरखपुर में रिंग रोड के निर्माण को लेकर सीएम योगी सख्त, कहा- लापरवाही नहीं होगी बर्दाश्त


गोरखपुर. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ दोबारा शपथ लेने के बाद लगातार विकास कार्यों की जमीनी हकीकत को जानने के लिए स्थलीय निरीक्षण कर रहे हैं. मुख्यमंत्री का सपना है कि गोरखपुर शहर सड़कों का जाल बिछाया जाए इसलिए आउटर रिंग रोड की परिकल्पना के साथ-साथ इनर रिंग रोड परिकल्पना पर भी काम कर रहे हैं. इनर रिंग रोड के तहत नौसर से पैडलेगंज सिक्स लेन मोतीपुर से जंगल कौड़िया फोरलेन और जेल बायपास रोड से बरगदवा फोरलेन का निर्माण चल रहा है. गुरुवार को सीएम ने जेल बाईपास और बरगदवा फोरलेन का निरीक्षण किया. मुख्यमंत्री ने कहा है कि गुणवत्ता पर विशेष ध्यान रखते हुए कौवाबाग-बरगदवा फोरलेन का निर्माण निर्धारित समय सीमा में पूर्ण करें. इसमें किसी भी स्तर पर शिथिलता या लापरवाही नहीं होनी चाहिए.

गुणवत्ता अनिवार्य शर्त
सीएम योगी ने प्रशासन व कार्यदायी संस्था के अधिकारियों को यह निर्देश कौवाबाग-बरगदवा फोरलेन के निरीक्षण के दौरान दिए. गुरुवार शाम उन्होंने 196 करोड़ रुपये की लागत से 8.56 किलोमीटर की लंबाई में निमार्णाधीन फोरलेन सड़क का निरीक्षण किया. साथ ही प्रोजेक्ट मैप का विस्तृत अवलोकन किया. उन्होंने कहा कि विकास परियोजनाओं में समयबद्धता और गुणवत्ता अनिवार्य शर्त होनी चाहिए. इस फोरलेन का निर्माण 30 जून तक अवश्य पूर्ण हो जाना चाहिए. इस दौरान उन्होंने खुद भी निर्माण कार्यों की गुणवत्ता को देखा. मुख्यमंत्री ने फोरलेन के साथ-साथ नालों का निर्माण को भी देखा सीएम ने कहा कि नाले का निर्माण ऐसा होना चाहिए जिससे सड़क के किनारे बसी अगल-बगल की कालोनियों को भी इसका फायदा मिल सके सीएम ने साफ निर्देश दिया कि गुणवत्ता से कोई समझौता नहीं होना चाहिए और काम समय पर पूरा होना चाहिए.

निवेशकों को मिलें सुविधाएं
वहीं दोपहर में सहजनवा में अटल आवासीय विद्यालय का निरीक्षण करने के बाद विद्यालय परिसर में बने कॉटेज में उद्योग जगत व विकास से जुड़ी परियोजनाओं को लेकर समीक्षा बैठक की. सीएम ने मुख्य कार्यपालक अधिकारी गीडा को निर्देशित किया कि गीडा में उद्यमियों की समस्याएं लंबित नहीं रहनी चाहिए. उद्यमियों के साथ संवेदनशील एवं मैत्रीपूर्ण व्यवहार अपनाया जाये. विकास परियोजनाओं की प्रगति की जानकारी लेते हुए सीएम योगी ने कहा कि निर्माण कार्यों की गुणवत्ता की जांच अवश्य की जाए. कार्य मानक के अनुरूप होने चाहिए. कोई भी गड़बड़ी मिलने पर संबंधित के खिलाफ कठोरतम कार्यवाही सुनिश्चित हो. विकास कार्य में कहीं भी देरी या लापरवाही नहीं होनी चाहिए.

ब्रेकिंग न्यूज़ हिंदी में सबसे पहले पढ़ें News18 हिंदी | आज की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट, पढ़ें सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट News18 हिंदी |

FIRST PUBLISHED : April 29, 2022, 01:51 IST



Source link

more recommended stories