गाजियाबाद: एमएमएच कॉलेज की फीस में 98% तक बढोत्तरी, छात्रों ने जताई कड़ी नाराजगी


हाइलाइट्स

कॉलेज के अलग अलग कोर्सों के लिए बढ़ाई गई है फीस
फीस बढोत्तरी को लेकर अभिभावकों ने व्यक्त की चिंता

रिपोर्ट- विशाल झा, गाजियाबाद

गाजियाबाद: बदलते वक्त के साथ-साथ शिक्षा व्यवस्था भी काफी महंगी होती जा रही है. फिर चाहे बात LKG, UKG की करें या फिर हायर स्टडी की. आज के जमाने में पढ़ाई का खर्च (Cost of education) काफी महंगा हो चुका है. कान्वेंट स्कूलों की फीसें आसमान छू रही हैं. ऐसे में गरीब और मध्यम वर्गीय परिवार को अपने बच्चों की शिक्षा देना काफी मुश्किल होता जा रहा है.

छोटी कक्षा के बच्चों की फीस का भुगतान तो परिवार जैसे-तैसे कर भी रहे हैं. लेकिन बड़ी कक्षा के बच्चों की शिक्षा के खर्च ने लोगों की हालत खराब कर दी है. दरअसल ये बात इसलिए कर रहे हैं क्योंकि, गाजियाबाद के एमएमएच कॉलेज (MMH College ) के कोर्स की फीस (Fees) में भारी बढ़ोतरी कर दी गई है. अचानक से इस फीस वृद्धि से अभिभावक चिंता में हैं.

कौन से कोर्स में कितना हुआ इजाफा?
एमएमएच कॉलेज के अलग अलग कोर्सों की फीस वृद्धि की गई है. आइए आपको बताते हैं किस कोर्स की कितनी फीस बधाई गई है-

बीए फर्स्ट ईयर में 72 फीसदी
बीकॉम में 80 फीसदी
एमकॉम में 27 फीसदी
एमए में 17 फीसदी
एलएलबी में 98 फीसदी की वृद्धि हुई है.

सुविधाओं के नाम पर कमरतोड़ शुल्क
एक ओर कॉलेज के छात्रों में फीस वृद्धि के लिए रोष है. तो वहीं कॉलेज प्रशासन का पक्ष है कि, 20 साल से फीस नहीं बढ़ाई गई थी. कॉलेज में सुविधाएं बढ़ाने के लिए यह वृद्धि करना आवश्यक हो गया था. News 18 Local से बात करते हुए डीन (छात्र कल्याण) डॉ केशव का कहना है कि, ऐसा कुछ नहीं है. दरअसल पिछले वर्ष बच्चों के दाखिले एलएलबी में नहीं मिल पाए थे. बार काउंसिल की फीस देने के लिए एक हजार रूपए की वृद्धि की गई है. उन्होंने कहा कि फीस वृद्धि एक निश्चित अनुपात में की गई है.

अभिभावकों ने जताई चिंता
कॉलेज प्रबंधन द्वारा बढ़ाई गई फीस को लेकर अभिभावकों ने चिंता व्यक्त की है. अपनी बेटी का बीकॉम में दाखिला कराने आए प्रवीण कुमार ने बताया कि महंगाई की मार के बीच में, फीस वृद्धि परेशान करने वाली है. अब बच्चों को पढ़ाना भी मुश्किल हो गया हैं. वहीं अपने बेटे का बीए में दाखिला कराने आए विनोद कुमार नें बताया की अचानक से फीस में भारी बढ़ोतरी करना कॉलेज प्रबंधकों की मनमानी हैं.

Tags: Chief Minister Yogi Adityanath, CM Yogi Aditya Nath, Ghaziabad News, Uttarpradesh news



Source link

more recommended stories