Dussehra 2022: इस रामलीला मैदान में रावण का दिखेगा हाईटेक अंदाज, जानिए कैसे होगा दहन?


रिपोर्ट- विशाल भटनागर

मेरठ. वेस्ट यूपी के मेरठ की बात की जाए तो इसके रावण की ससुराल कहा जाता है, लेकिन विजयादशमी के पर्व पर रावण की ससुराल में ही रावण की बुराइयों को जलाने को लेकर विशेष रूप से तैयारियां गई हैं. जिले भर में रावण दहन कर असत्य पर सत्य और अधर्म पर धर्म की जीत का जश्न मनाया जाएगा, लेकिन इस साल शहरों में रावण दहन नए-नए तरीके से किया जाएगा. मेरठ में हाईटेक के साथ-साथ इको फ्रेंडली रावण दहन भी इस बार देखने को मिलेगा.

मेरठ के कसेरूखेड़ा में इस बार काफी अनोखा और हाईटेक रावण तैयार किया गया है. रावण के पुतले को लेकर ऐसी तकनीक बनाई गई है, जो चर्चा का विषय बना हुआ है. दरअसल रावण का सिर चारों दिशाओं में घूमता हुआ नजर आएगा. इस पुतले को किसी विशेष कारीगर नहीं बल्कि कसेरूखेड़ा में रामलीला कमेटी द्वारा ही तैयार किया गया है. पुतले की हाइट की बात की जाए तो 80 फीट का यह पुतला है, जो विशेष आकर्षण का केंद्र बना हुआ है.

कमेटी ही तैयार करती है पुतला
कसेरूखेड़ा में रामलीला कमेटी की ओर से मनाए जा रहे रावण दहन और रामलीला मंचन की मुख्य बात ये है कि यहां कमेटी के द्वारा ही सभी कार्य किए जाते हैं. यहां तक की रावण की मूर्ति भी कमेटी मिलकर तैयार करती है. रामलीला मंचन से लेकर सभी कार्य भी कमेटी के लोग स्वयं मिल जुल कर करते हैं. समिति के अध्यक्ष विनोद सोनकर बताते हैं कि युवा पीढ़ी भी हमारे इस कार्यक्रम में भरपूर सहयोग करती है. पुतला बनाने से लेकर हर प्रकार की तैयारियां किस प्रकार होनी चाहिए. उसको लेकर समिति के पदाधिकारियों की जिम्मेदारी तय कर दी जाती है.

बताते चलें कि मेरठ में लगभग 8 स्थानों पर रामलीला मंचन और रावण दहन का कार्यक्रम आयोजित किया जाता है. सभी में रावण के पुतले की चर्चाएं हैं, लेकिन मूमेंट करता हुआ रावण का पुतला सिर्फ कसेरूखेड़ा में ही देखने को मिलेगा.

Tags: Dussehra Festival, Meerut news, Ravana Dahan, Ravana effigy



Source link

more recommended stories