दुबई से दिल्ली लौट बनाया फर्जीवाड़ा गैंग, फिर 2 हजार लोगों को लगाया लाखों का चूना


नोएडा. विदेशों में नौकरी दिलाने के नाम पर धोखाधड़ी करने वाले गिरोह का भंडाफोड़ किया गया. फर्जीवाड़ा कर कागजात तैयार करके खातों में रुपया लेने वाला अंतरराज्यीय गैंग के दो लोगों पुलिस ने गिरफ्तार किया है. ये लोग अब तक 2000 लोगों के साथ धोखाधड़ी कर चुके हैं. इनके पास से 80 पासपोर्ट, 22 फर्जी आधारकार्ड बरामद किये गये. आरोपियों की पहचान सुधीर सिंह निवासी सीवान और हमीद निवासी गाजियाबाद के रूप में हुई. इन दोनों को सेक्टर-27 श्रीजी पैलेस से गिरफ्तार किटया गया. नोएडा में पिछले 3 महीने से दोनों काम कर रहे थे.

एडीसीपी आशुतोष द्विवेदी ने बताया कि अंकुर कुमार सिंह निवासी देवरिया समेत 15 लोगों ने कोतवाली सेक्टर-20 में इनके खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया था. आरोपियों ने इन सभी को गल्फ कंट्रीज में नौकरी दिलाने का झांसा देकर प्रत्येक से 65 हजार से 1 लाख रुपये तक लिए थे. एडीसीपी ने बताया कि आरोपी सुधीर ग्रेजुएट एवं हमीद इंटर पास है. सुधीर पहले दुबई में प्लंबर की नौकरी के लिए गया था. कोविड-19 के लॉकडाउन की वजह से वह वापस आ गया और  हल्दीराम कंपनी में नौकरी की. सुधीर और हमीद दोनों करीब 3 साल से धोखाधड़ी कर रहे हैं. सेक्टर 27 में चार महीने से, इससे पहले पूर्व दिल्ली और गाजियाबाद क्षेत्र में इनलोगों ने अपने ऑफिस खोला रखा था.

नामी कंपनी के नाम से मिलता जुलता रखा नाम
इन्होंने अपनी फर्जी कंपनी का नाम अम्बा इन्टरप्राजेज रखा, क्योंकि महाराष्ट्र में अम्बे इन्टरप्राइजेज नाम की उत्कृष्ट ख्याती की रजिस्टर्ड कंपनी है. रजिस्टर्ड कंपनी के मिलते जुलते नाम से आवेदनकर्ता भ्रमित होकर धोखाधड़ी की जाल में आसानी से फंस जाते थे. फर्जी कंपनी का रजिस्ट्रेशन नंबर भी महाराष्ट्र वाली कंपनी का ही किया था. ये लोग फर्जी आधार कार्ड आवेदनकर्ताओं को दिखाकर यकीन दिलाते थे कि इतने लोगों को नौकरी पर भेज चुके हैं.

12 बैंक खातों में डवलाते थे पैसा
गैंग द्वारा आवेदनकर्ताओं से रुपया ट्रांसफर कराने के लिए 12 बैंक अकाउंट खोले गये थे. पूछताछ से यह भी प्रकाश में आया कि इन अपराधियों ने महेन्द्र मुखिया के नाम का बैंक अकाउंटस को धोखाधडी की धनराशी लेने में प्रयोग किया, जबकी महेन्द्र मुखिया की मृत्यु हो चुकी है. बैंक खातों में जमा कराए गए रुपयों से 05 माह में 03 अकाउटंस से करीब 60 लाख रुपयों का डेबिट किया जा चुका है.

Tags: Noida Crime News, UP news



Source link