दिवाली पर जबरदस्त आतिशबाजी से झांसी की हवा हुई ‘खराब’, AQI बढ़ने से ऑरेंज जोन में आया


शाश्वत सिंह

झांसी. दिवाली के उत्साह में झांसीवासियों ने अपने शहर की आबो हवा बिगाड़ दी है. त्योहार की खुशी में झांसी के लोगों ने दिवाली के दिन आठ करोड़ रुपए मूल्य के पटाखे जलाकर आतिशबाजी की थी. त्योहार तो खत्म हो गया, लेकिन अब शहर में वायु प्रदूषण बढ़ गया है. आतिशबाजी के दौरान वातावरण में फैले धुएं और प्रदूषण के कारण झांसी ऑरेंज जोन में आ गया है. झांसी की एयर क्वालिटी इंडेक्स यानी एक्यूआई 239 हो गया है.

दिवाली की रात बढ़ा प्रदूषण
उत्तर प्रदेश पॉल्यूशन कंट्रोल बोर्ड की क्षेत्रीय अधिकारी दीपा अग्रवाल ने बताया कि दिवाली के दिन दोपहर तीन बजे तक झांसी में प्रदूषण 214 के स्तर पर सामान्य था. शाम होने पर लोगों ने आतिशबाजी शुरू कर दी थी जिसके कारण एक्यूआई बढ़ कर 262 पर पहुंच गया. देर रात तक झांसी का प्रदूषण स्तर ऑरेंज जोन में पहुंच गया. औसत एक्यूआइ 239 पर रहा.

बता दें कि एयर क्वालिटी इंडेक्स के अनुसार अगर प्रदूषण स्तर 201 से 300 के बीच होता है तो उसे खराब माना जाता है. साथ ही, हवा में पीएम 10 का स्तर 100 और पीएम 2.5, 60 माइक्रोग्राम प्रतिघन मीटर से अधिक नहीं होना चाहिए.

स्वास्थ्य का रखें ध्यान
बढ़ते प्रदूषण स्तर का असर लोगों के स्वास्थ्य पर देखने को मिल सकता है. एक्सपर्ट डॉ. विक्रम ने बताया कि बदलते मौसम और बढ़ते प्रदूषण स्तर की वजह से छोटे बच्चों और बुजुर्गों को स्वास्थ्य संबंधी समस्या का सामना करना पड़ सकता है. उन्होंने कहा कि जिन लोगों को सांस की तकलीफ है वो कुछ दिनों के लिए सुबह टहलने न निकलें. साथ ही अगर आंख में जलन या सीने में तकलीफ़ हो तो वो डॉक्टर को जरूर दिखाएं.

Tags: Air Quality Index AQI, Diwali festival, Jhansi news, Orange Alert, Up news in hindi



Source link