CRPF में तैनात दलित जवान घुड़चढ़ी के लिए पहुंचा पुलिस अधिकारियों के पास, गांव में भारी सुरक्षाबल तैनात

Jhansi: स्वतंत्र देव सिंह ने अधिकारियों को लगाई फटकार, बोले-पैसा कमाना बुरी बात नहीं है, पूरा डकार जाना गलत


बुलंदशहर. उत्तर प्रदेश के बुलन्दशहर में शादी से पहले घुड़चढ़ी में सुरक्षा दिए जाने की मांग को लेकर CRPF में तैनात जवान पुलिस अधिकारियों की चौखट पर पहुंचा है. पीड़ित दलित गौरव ने बताया कि बुलंदशहर के ककोड़ थाना क्षेत्र का गढाना उसका पैतृक गांव है और वह फिलहाल जम्मू कश्मीर में तैनात है. उसने बताया कि उसका ताल्लुक दलित समाज से है और उसकी शादी में घुड़चढ़ी के दौरान गांव में किसी तरह का विवाद न हो इसलिए वह पुलिस से सुरक्षा चाहता है.

वहीं मामले में बुलंदशहर एसपी सिटी सुरेंद्र नाथ तिवारी ने दावा किया कि दूल्हे की मांग पर उसके गांव गढाना में भारी संख्या में पुलिस बल मुस्तैद कर दिया है और उसकी शादी में किसी तरह की अड़चन न पेश आए इसलिए पूरे घटनाक्रम पर पुलिस की नज़र रहेगी.

बता दें कि गढाना गांव में 8 माह पूर्व भी दलित युवक की शादी में घुड़चढ़ी के दौरान तेज़ आवाज़ में डीजे बजाने को लेकर दलित और ठाकुर समाज के बीच विवाद हो गया था. इस विवाद में दलित समाज की ओर से ठाकुर समाज के एक शख्स की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी. मामले में पुलिस की ओर से आरोपियों पर सख़्त कार्रवाई देखने को मिली थी और इसी के चलते दलित समाज से ताल्लुक रखने वाले इस दूल्हे को अनहोनी का डर सता रहा है.

फिलहाल गांव में पुलिस बल तैनात किया गया है और गांव गढाना में कल पुलिस सुरक्षा के बीच ही CRPF के जवान की घुड़चढ़ी की रस्म अदायगी होगी.

आपके शहर से (बुलंदशहर)

उत्तर प्रदेश

उत्तर प्रदेश

Tags: Bulandshahr news, CRPF, Dalit Community



Source link

more recommended stories