छुट्टी न मिलने से डिप्रेशन में चल रहे कॉन्स्टेबल ने खुद को राइफल से उड़ाया, 3 साल पहले हुआ था पुलिस में भर्ती


हाइलाइट्स

पुलिस कॉन्स्टेबल के आत्महत्या करने के पीछे की अधिकारिक वजह सामने नहीं आई है.
सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार, छुट्टी न मिलने की वजह से काॅन्स्टेबल आकाश ने आत्महत्या की है.
2019 बैच के कांस्टेबल आकाश कुमार बुलाता मथुरा के रहने वाले हैं. वह कई थानों में ड्यूटी कर चुके हैं.

प्रयागराज. उत्तर प्रदेश के प्रयागराज में एक काॅन्स्टेबल के अपनी ही कारबाइन राइफल से गोली मारकर आत्महत्या करने का सनसनीखेज मामला सामने आया है. बताया जा रहा है कि छुट्टी न मिलने की वजह से मानसिक तनाव में आकर आकाश कुमार ने आत्महत्या कर ली. प्रयागराज पुलिस लाइन में गोली चलने की आवाज पर पुलिसकर्मी भागकर आकाश की ओर पहुंचे तो वह गंभीर अवस्था में घायल मिला और खून चारों तरफ फैला हुआ था. कांस्टेबल आकाश को आनन-फानन में स्वरूपरानी मेडिकल कॉलेज में भर्ती कराया गया जहां इलाज के दौरान ही मौत हो गई.

पुलिस कर्मी के आत्महत्या करने के पीछे की अधिकारिक क्या वजह है, अभी तक स्थिति स्पष्ट नहीं हो सकी है, लेकिन सूत्रों से प्राप्त जानकारी के अनुसार छुट्टी न मिलने की वजह से काॅन्स्टेबल आकाश ने आत्महत्या की है. 2019 बैच के कांस्टेबल आकाश कुमार बुलाता मथुरा के रहने वाले हैं. घूरपुर थाना सहित कई स्थानों पर ड्यूटी कर चुके हैं हाल फिलहाल में उत्तराव थाना से पुलिस लाइन आए थे, मौजूदा समय में पुलिस लाइन में ही तैनात थे.

काॅन्स्टेबल आकाश ने अपनी राइफल कारबाइन से खुद को गोली मार ली.

ये भी पढ़ें… यूपी पुलिस के कॉन्स्टेबल ने ‘खुशखबरी’ के लिए रोचक अंदाज में मांगी छुट्टी, पढ़ें दिलचस्प आवेदन

आत्महत्या के बाद पुलिस लाइन में मचा हड़कंप
एसपी सिटी दिनेश कुमार सिंह ने बताया कि मृतक आकाश कुमार के परिजनों को सूचना दे दी गई है. फिलहाल आकाश कुमार के मौत के बाद पुलिस विभाग में हड़कंप मच गया है. स्वरूप रानी अस्पताल फॉरेंसिक टीम के साथ एसएसपी एसपी सिटी सहित आला अधिकारी पहुंच कर आत्महत्या की वजह तलाश में जुटे हुए हैं. फिलहाल पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है. पोस्टमार्टम के बाद पुलिस लाइन में आकाश के पार्थिव शरीर को भावभीनी श्रद्धांजलि दी जाएगी. इसके बाद परिजनों को सौंप दिया जाएगा।

Tags: Prayagraj Latest News, Prayagraj News Today, Prayagraj Police, UP police



Source link