चंदौली कांड पर शुरू हुई सियासत: कांग्रेस नेता पीड़ित परिवार से मिले, गिरफ्तारी की मांग को लेकर पिता अनशन पर बैठे


चंदौली. चंदौली कांड के तीसरे दिन मंगलवार को मौके पर शांति दिखी है. इस बीच मृतक गुड़िया के पिता अनशन पर बैठ गए हैं. उनका कहना है कि 24 घंटे पहले से ही उन्होंने अन्न जल छोड़ दिया है और जब तक उनकी बेटी के हत्यारों को जेल नहीं भेजा जाएगा वह अनशन पर ही रहेंगे. इस दौरान मामले में राजनीति भी शुरू हो गई है. कांग्रेस पार्टी का एक प्रतिनिधिमंडल भी मंगलवार को पीड़ित परिवार से मिलने पहुंचा है और उसके द्वारा घटना की उच्चस्तरीय जांच की मांग की गई है.

गौरतलब है कि चंदौली की घटना के बाद एक बार फिर यूपी पुलिस सवालों से घिर गई है. दबिश देने गई पुलिस पर आरोपी की दो बेटियों से पिटाई का आरोप लगा जिसमें एक की मौत हो गई. इस घटना के तीसर दिन सियासत भी गर्माने लगी है. पीड़ित परिवार के घर कांग्रेस पार्टी का एक डेलिगेशन उनसे मिलने गया है. प्रदेश सचिव के नेतृत्व में मिलने गए कांग्रेस के लोगों ने पूरे मामले में उच्च स्तरीय जांच की मांग की है.

दरअसल, रविवार की देर शाम पुलिस की दबिश के बाद युवती गुड़िया की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई थी. परिवार वालों ने आरोप लगाया है कि पुलिस की पिटाई के बाद युवती की मौत हुई है. इस घटनाक्रम में गुड़िया की बहन गुंजा भी बुरी तरह घायल हुई है. घटना में आरोपी एसएचओ को निलंबित कर दिया गया है. साथ ही गैर इरादतन हत्या का भी मुकदमा पुलिसकर्मियों पर दर्ज किया गया है.

हालांकि मृतक गुड़िया के पिता कन्हैया यादव का आरोप है कि प्रशासनिक अधिकारी आरोपी दरोगा को बचाने का कुचक्र रच रहे हैं. उनका कहना है कि एक तरफ मेरी बेटी की हत्या की गई है तो दूसरी तरफ अधिकारी झूठ बोलकर परिवार को बरगला रहे हैं. उन्होंने कहा है कि जब तक उन्हें न्याय नहीं मिलेगा वह अन्न जल ग्रहण नहीं करेंगे.

कौन है कन्हैया यादव?
कन्हैया यादव पर कई आपराधिक मुकदमे दर्ज हैं. पुलिस का दावा था कि एक एनबीडब्ल्यू के तामील करने को लेकर पुलिस टीम रविवार की शाम मौके पर गई थी. इस दौरान हुए घटनाक्रम में परिवार वालों द्वारा का आरोप लगाया गया चूंकि प्रशासन ने कन्हैया यादव को जिला बदर कर रखा है, जिसके चलते वह घर पर नहीं थे.

दबिश के दौरान पुलिस पर पिटाई का आरोप
घर पर उनकी दोनों बेटियां अकेली थीं. इसी दौरान घर में मौजूद दोनों बेटियों से पुलिस की कहासुनी हो गई. जिसके बाद वहां पहुंचे पुलिसकर्मियों ने दोनों बेटियों की बर्बरतापूर्ण पिटाई कर दी. आरोप लगाया गया कि पिटाई के चलते ही बड़ी बेटी गुड़िया की मौत हो गई है. दूसरी बेटी गुंजा भी पुलिस पिटाई में घायल हुई थी, जिसकी हालत एकाएक बिगड़ गई है और उसे जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है.

Tags: Chandauli News, UP Congress, UP news, UP police



Source link

more recommended stories