चाइल्ड पोर्नोग्राफी मामले में सीबीआई ने कोर्ट में दाखिल की 2 हजार पन्ने की चार्जशीट, लगे हैं गंभीर आरोप


हाइलाइट्स

सीबीआई ने 2000 पन्नों की चार्जशीट दाखिल की
4 आरोपियों के लगे हैं बच्चों के यौन शोषण के गंभीर आरोप

चंदौली: चाइल्ड पोर्नोग्राफी मामले में सीबीआई की टीम ने मंगलवार को चंदौली कोर्ट में चार्जशीट दाखिल कर दी. इस मामले में विशेष न्यायाधीश पॉक्सो चंदौली की कोर्ट में 4 लोगों के खिलाफ 2 हजार पन्ने की चार्जशीट दाखिल की है. इसमें दो आरोपी चंदौली जिले के रहने वाले हैं. जबकि अन्य दो में से एक आरोपी बांदा जिला और दूसरा पटना जिले के फतुहा का रहने वाला है. बांदा और फतुहा के रहने वाले दोनों व्यक्ति सरकारी कर्मचारी हैं.

न्यायालय में दाखिल आरोप पत्र के अनुसार सीबीआई ने बताया कि टीम को चाइल्ड पोर्नोग्राफी के मामले में दो सितंबर 2021 को एक शिकायत मिली थी. इस मामले में जांच के बाद सीबीआई ने उत्तर प्रदेश के सिंचाई विभाग में जूनियर इंजीनियर पद पर कार्यरत रामभुवन और राउलकेला में लोको पायलट अजीत कुमार के खिलाफ केस दर्ज किया था. रामभुवन उत्तर प्रदेश के बांदा जिले का जबकि अजीत कुमार बिहार के पटना का रहने वाला है. जांच के दौरान ओड़िसा के राउरकेला में लोको पायलट के पद पर कार्यरत पटना के फतुहा निवासी अजीत कुमार के यहां पुलिस ने छापेमारी की.

छापेमारी के दौरान उसके यहां से मोबाइल और लैपटॉप समेत अन्य सामानों की जांच की गई. जांच के दौरान सीबीआई टीम के हाथ चाइल्डपोर्नोग्राफी से संबंधित कई फोटो और वीडियो मिले, जो बांदा के रहने वाले जूनियर इंजीनियर के मोबाइल पर भेजे गये थे.

ऐप के माध्यम से जुड़े
जांच में यह भी तथ्य सामने आया कि दोनों लोग एक ऐप के माध्यम जुड़े थे. इस मामले की जांच के वक्त टीम को ज्ञात हुआ कि जनवरी 2015 और फरवरी 2016 में दोनों ने चाइल्ड पोर्नोग्राफी से संबंधित वीडियो और फोटो को साझा किया था. इस मामले की जांच के क्रम में सीबीआई के सामने दो अन्य लोगों के नाम भी सामने आये जो कि चंदौली के रहने वाले थे.

बच्चों का करते थे यौन शोषण
सीबीआई ने अपने आरोप पत्र में बताया कि, चंदौली के रहने वाले अजय कुमार गुप्ता और अविनाश कुमार सिंह, बच्चों का यौन शोषण कर उसकी फिल्म व फोटो खींचकर उसे ऊंचे दामों पर बेचा करते थे. इसमें एक आरोपी निजी इंस्टीट्यूट का मालिक भी है. सीबीआई की जांच में सामने आया कि जिले के रहने वाले दोनों आरोपी बच्चों को डरा,धमका कर और लालच देकर ऐसा कृत्य कराया करते थे. साथ ही जान से मारने की धमकी भी देते थे. जिससे बच्चे डरकर किसी से कुछ नहीं कहते. न्यायालय के विशेष अधिवक्ता शमशेर बहादुर सिंह ने बताया कि सीबीआई की ओर से चार आरोपियों के खिलाफ दो हजार पन्नों की चार्जशीट दाखिल की गई है.

Tags: Chandauli News, Chief Minister Yogi Adityanath, CM Yogi Adityanath, Uttarpradesh news



Source link

more recommended stories