चाचा की भतीजे को खुली चुनौती! बीजेपी में नहीं जायेंगे शिवपाल यादव, कहा- अब समाजवादी पार्टी के खिलाफ खुलकर मोर्चा खोलेगी प्रसपा


लखनऊ. समाजवादी पार्टी के  अध्यक्ष अखिलेश यादव और  उनके चाचा के बीच चल रहा शीत युद्ध  निर्णायक मोड़ ले रहा है. गुरुवार को लखनऊ में न्यूज़18 के साथ ख़ास बातचीत में शिवपाल यादव ने  यादव पर तीखा हमला बोलै. उन्होंने कहा कि प्रगतिशील समाजवादी पार्टी अब नये तेवर और बदले हुए स्वरूप में नज़र आयेगी. पार्टी के पुर्नगठन की प्रक्रिया शुरू हो गयी है और अब तक समाजवादी पार्टी के मामले में चुप रहने वाली प्रसपा अब सपा पर भी हमले करने से नहीं चुकेगी.

NEWS 18 से खास बातचीत में शिवपाल यादव ने कहा कि पिछले दिनों ट्विटर पर अपनी शेरों शायरी पर जो बातें उन्होंने कही, ये किसके लिए लिए था, यह बताने की जरूरत नहीं है. समझदार के लिए इशारा ही काफी है. विधानसभा चुनाव के ठीक बाद प्रसपा ने राष्ट्रीय कार्यकारिणी को छोड़ कर बाकि सभी कमेटियां भंग कर दी थी. जिसके बाद शिवपाल यादव के सपा में जाने की अटकले तेज हो गयी थीं, लेकिन शिवपाल यादव ने पार्टी को नये सिरे से खड़ा करने के फैसले के बाद फिलहाल बीजेपी में जाने की अटकलों पर विराम लग गया है.

तीसरे मोर्चे का विकल्प  तलाशने की कवायद
उधर प्रसपा की सक्रीयता बढ़ने से प्रदेशी राजनीति में तीसरे मोर्चे को भी ताकत मिलेगी. शिवपाल यादव ने बताया कि मई में प्रदेश कमेटी और फ्रंटल संगठन तैयार हो जायेगा. इसके बाद जिलेवार अभियान चलाया जायेगा. जिलों में तहसील स्तर तक प्रशिक्षण कार्यक्रम चलेंगे और लोगों को य़े बाताया जायेगा कि कैसे लोहिया के विचारों को लेकर पार्टी आगे बढ़ेगी. दरअसल, प्रदेश में बीजेपी  सभी गठबंधन के नाकाम होने के बाद अब शिवपाल यादव और आजम खान को लेकर तेज हैं. क्या आजम शिवपाल के साथ मिलकर तीसरे मोर्चे का गठन करेंगे या फिर कोई अन्य विकल्प भी है, यह आने वाले दिनों में तय होगा.

Tags: Akhilesh yadav, Samajwadi party, Shivpal singh yadav, UP latest news



Source link

more recommended stories