बसपा सांसद अतुल राय कोर्ट के बाहर बेहोश होकर गिरे, जानें फिर क्या हुआ..?


हाइलाइट्स

अतुल राय पेशी से पहले ही बेहोश होकर गिर पड़े.
बलिया निवासी युवती ने सांसद अतुल राय पर दुष्कर्म का आरोप लगाया था.

वाराणसी. नैनी सेंट्रल जेल में बंद घोसी से बसपा सांसद अतुल राय गुरुवार को वाराणसी की अदालत में पेश होने पहुंचे लेकिन पेशी से पहले ही बेहोश होकर गिर पड़े. उन पर दुष्कर्म पीड़िता और उसके गवाह दोस्त को आत्महत्या के लिए उकसाने और आपराधिक षड्यंत्र रचने के आरोप है. जैसे ही वे गिरे सुरक्षा में तैनात पुलिसकर्मी उन्हें उठाकर अदालत में ले गए लेकिन जज ने बेहोशी की हालत में पेशी से मना कर दिया.

अदालत ने मामले में अगली तारीख 13 सितंबर को लगाते हुए वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए पेशी कराने का आदेश दिया. बता दें कि सांसद अतुल राय पर दुष्कर्म पीड़िता और उसके गवाह दोस्त को आत्महत्या के लिए उकसाने और आपराधिक षड्यंत्र रचने के मामले में वाराणसी के एसीजेएम 5 एमपी एमएलए उज्जवल उपाध्याय की कोर्ट में पेशी पर लाया गया था. गुरुवार को न्यायिक रिमांड बनाने के लिए वारंट बी पर सांसद अतुल राय को कोर्ट में तलब किया गया था.

वकील ने लगाए पुलिस पर आरोप

अदालत ने एंबुलेंस के जरिए एक डॉक्टर के साथ अतुल राय को नैनी सेंट्रल जेल में वापस दाखिल करने का आदेश दिया. वही, इस मामले में सांसद अतुल राय के वकील अनुज यादव ने पुलिस पर गंभीर आरोप लगाया है. वकील अनुज यादव के मुताबिक, पुलिस बीमारी हालत में दुर्व्यवहार के साथ सांसद अतुल राय को नैनी सेंट्रल जेल से यहां लेकर आई. यही नहीं एंबुलेंस में बैठा कर 45 मिनट तक गेट पर खड़ा रखा गया. किसी अनुभवी डॉक्टर को दिखाने की गुजारिश भी नही मानी गई.

तीन साल पुराना मामला

गौरतलब है कि पिछले महीने 6 अगस्त को पीड़िता से दुष्कर्म के मामले में विशेष न्यायाधीश एमपी एमएलए सियाराम चौरसिया ने सांसद अतुल राय को बरी किया था. अब उन पर केवल दुष्कर्म पीड़िता और उसके गवाह दोस्त को आत्महत्या के लिए उकसाने और आपराधिक षड्यंत्र रचने के मामले में सुनवाई चल रही है. यह मामला 3 साल पुराना है. बलिया निवासी युवती ने सांसद अतुल राय पर दुष्कर्म का आरोप लगाया था.

बीते साल पीड़िता और उसके गवाह साथी ने पुलिस प्रशासन और सांसद अतुल राय पर प्रताड़ित करने का आरोप लगाते हुए दिल्ली में सुप्रीम कोर्ट के बाहर आत्मदाह कर लिया था, जिसमें पीड़िता और उसके गवाह दोस्त सत्यम राय की मौत हो गई थी. इसी मामले में पुलिसकर्मियों और अधिकारियों पर कार्यवाही हुई और अतुल राय पर केस दर्ज हुआ था बीते 3 सालों से सांसद अतुल राय प्रयागराज की नैनी सेंट्रल जेल में बंद हैं.

Tags: Atul Rai, Varanasi news



Source link

more recommended stories