भक्तों का दावा, प्राचीन सिद्धपीठ श्री वनखंडेश्वर महादेव मंदिर में प्रकट हुए भगवान शिव, अलीगढ़ में लगी कतार


रिपोर्ट : वसीम अहमद

अलीगढ़. उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ जिला मुख्यालय से करीब 25 किलोमीटर दूर कस्बा जलाली में एक अजीबो गरीब वाक्या देखने और सुनने को मिल रहा है. दरअसल यहां के प्राचीन सिद्धपीठ श्री वनखंडेश्वर महादेव मंदिर में भगवान शिव मुखाकृति के रूप में प्रकट हुए. घटना की जानकारी देते हुए दर्शन करने आए एक श्रद्धालु ने बताया कि मंदिर में विराजमान शिवलिंग में देर रात भगवान शिव स्वयं दिखाई दे रहे थे. शिवलिंग में भगवान भोलेनाथ की आकृति साफ-साफ दर्शन दे रही थी. इतना ही नहीं भोलेनाथ अपनी पलकें झपका भी रहे थे. कुछ भक्तों का तो कहना है कि भगवान शिव की नाक भी साफ दिखाई दे रही थी.

NEWS 18 से खास बातचीत में श्रद्धालु गोकुल चंद स्वामी ने बताया कि करीब 300-400 साल पहले अंग्रेजी हुकूमत के समय यह शिवलिंग मंदिर के सामने बने रजवाहे में मिला था. ऐसा कहा जाता है कि शिवलिंग को जब निकाला जा रहा था, तभी फावड़ा लगने से शिवलिंग से रक्त की धार निकली थी. बाद में इस शिवलिंग को यहां मंदिर में स्थापित कर दिया गया.

दर्शन के लिए उमड़ रहे श्रद्धालु

प्राचीन सिद्धपीठ श्री वनखंडेश्वर महादेव मंदिर में देर रात बाबा भोलेनाथ के प्रकट होने की जानकारी लगते ही हजारों की संख्या में श्रद्धालु भोलनाथ के दर्शन के लिए पहुंच रहे हैं. भक्त बाबा भोलेनाथ पर दुग्धाभिषेक और जलाभिषेक कर रहे हैं. हालांकि धीरे-धीरे यह आकृति कम होती चली गई. आकृति पूरी तरह से जाने के बाद भी श्रद्धालुओं के आने का सिलसिला लगातार जारी है. भगवान शिव के दर्शन देने के इस चमत्कार के बारे में जो कोई भी सुन रहा है, वह मंदिर की तरफ दौड़ लगा रहा है.

Tags: Aligarh news, Religious Places, UP news



Source link