बेटी दिवस पर भाषा से भटके भाजपा विधायक राम नरेश रावत, मुंह से निकली गाली

सभा में मौजूद महिलाओं के बीच बीजेपी एमएलए राम नरेश रावत.
सभा में मौजूद महिलाओं के बीच बीजेपी एमएलए राम नरेश रावत.


सभा में मौजूद महिलाओं के बीच बीजेपी एमएलए राम नरेश रावत.

रायबरेली के बछरावां सीट से बीजेपी विधायक राम नरेश रावत महिलाओं के सामने भाषा की मर्यादा लांघते दिखे. उन्होंने अपनी आपत्तिजनक शैली से महिलाओं को लज्जित होने पर विवश कर दिया.

  • News18Hindi

  • Last Updated:
    January 24, 2021, 10:39 PM IST

रायबरेली. बेटी दिवस के मौके पर रायबरेली (Raebareli) के बछरावां सीट से बीजेपी विधायक (BJP MLA) राम नरेश रावत (ram naresh rawat) महिलाओं को लेकर दिए बयान पर भाषा की मर्यादा लांघते दिखे. उन्होंने मंच अपनी आपत्तिजनक शैली से महिलाओं को लज्जित होने पर विवश कर दिया.

बेटी दिवस कार्यक्रम में पहुंचे विधायक राम नरेश रावत ने कहा कि ‘पुरुषों की बराबरी करती हुई मेरी बाईं तरफ बहुत सी महिलाएं बैठी हुई हैं. 1990 में मेरी शादी हुई थी. मैं व्यावहारिक बात कर रहा हूं, कोई भाषण नहीं कर रहा. पत्नी को भी क्षेत्र में जाना होता है और मुझे भी, तो मैंने दो जीप खरीदी. एक पत्नी के लिए और एक अपने लिए. अब एक बार अपनी जीप से पत्नी किसी बारात में गईं. तब शामियाना लगता था, 30 साल पहले आज की तरह तंबू कनात नहीं लगते थे. संयोग से मैं भी वहां गया था, तो बहुत से लड़के आए और कहे चलो नाचो भाई.’ इसके बाद विधायक ने गाली शब्द का प्रयोग किया. फिर बोले, ‘तो पत्नी ने कहा – अभी हम नाचने नहीं चलेंगे थोड़ी देर में चलेंगे. बाजा बजाने वाले दूसरी गाड़ी से आ रहे हैं.’ विधायक ने आगे कहा, ‘जिसका परिणाम है कि मेरी पत्नी रात के 12 बजे भी कहीं जा सकती हैं. उन्हें किसी पुरुष की जरूरत नहीं है, किसी आदमी की जरूरत नहीं है.’

हालांकि महिलाओं के लिए किए गए अपशब्द के प्रयोग पर बाद में विधायक ने मीडिया के सामने अपनी सफाई पेश की. कहा कि मैंने इसलिए कहा कि महिलाएं जब बाहर निकलेंगी और कुछ काम करेंगी तो लोग अशोभनीय शब्दों का प्रयोग करेंगे. लेकिन विधायक अपनी बात पर बाद में अटल रहे और कहा कि हमें ये कहना शोभा दे रहा था.






Source link