Banda Boat Accident: सीएम योगी ने मौके पर भेजा सरकार के दो मंत्री, मृतक परिवारों को मिलेगा 4 लाख रुपये मुआवजा


हाइलाइट्स

राहत और बचाव कार्य जारी
पुल बन जाता तो बच जाती लोगों की जान
रातभर चला राहत और बचाव कार्य

लखनऊ. उत्तर प्रदेश के बांदा में गुरुवार की दोपहर में यमुना की बीच धारा में अचानक नाव पलट जाने से बड़ा हादसा हो गया. इस घटना में नाव पर सवार चार लोगों की मौत हो गई, जबकि 17 अन्‍य लोग लापता हैं. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शोक संतप्त परिवार के लोगों के प्रति अपनी गहरी संवेदना व्यक्त की. बांदा नाव हादसे में सीएम योगी ने पीड़ितों की तत्काल मदद और राहत के निर्देश दिए. दो मंत्रियों रामकेश निषाद और राकेश सचान को घटनास्थल पर तत्काल पहुंचने के निर्देश दिए. इतना ही नहीं, मृतकों के परिजनों को आपदा राहत कोष से प्रति मृतक 4 लाख रुपए की राहत राशि देने के लिये भी निर्देश दिए.

बांदा नाव हादसे में लापता 17 लोगों की तलाश के लिए रेस्क्यू ऑपेरशन फिर से शुरू हो गया है. नदी के किनारे लापता लोगों के परिजनों की भीड़ है. 18 घंटे से लापता को ढूंढने की जंग जारी है. इस बीच पुलिस अधीक्षक (एसपी) अभिनंदन ने बताया कि 30-35 लोगों से भरी एक नौका दोपहर बाद मरका थाना क्षेत्र के यमुना घाट से फतेहपुर जिले के जरौली घाट जा रही थी, तभी बीच जलधारा में हवा का झोंका आने से नौका डगमगा कर पलट गई.

अभिनंदन ने बताया कि अब तक चार लोगों के शव नदी से निकाले जा चुके हैं और उनकी शिनाख्‍त करने की कोशिश की जा रही है. इस बीच नौका चालक को पुलिस ने हिरासत में ले लिया है.

UP की ‘मुख्यमंत्री फेलोशिप योजना’ का शोध छात्र उठा सकते हैं लाभ, मिलेगी हर महीने 30 हजार सैलरी, यहां करें आवेदन

वहीं, जिलाधिकारी अनुराग पटेल ने बताया कि तेज हवाओं की वजह से नाव अनियंत्रित होकर पलट गई. उन्होंने बताया कि मृतकों में दो महिलाएं और एक बच्चा शामिल है. मृतकों की सटीक संख्या अभी पता नहीं चल पाई है. उन्होंने बताया कि 13 लोगों को बचा लिया गया है जबकि 17 लोग अब भी लापता हैं. रेस्क्यू ऑपरेशन जारी है.

Tags: Banda News, CM Yogi, Lucknow news, UP news, Yogi government





Source link

more recommended stories