बाहुबली मुख्तार अंसारी पर डायरी गायब कराने के आरोप में मुकदमा, 31 साल पुराने मामले में फंसे


हाइलाइट्स

वाराणसी के कैंट थाने में पुलिस ने बाहुबली मुख्तार अंसारी के विरुद्ध मुकदमा दर्ज कराया गया है.
यह मुकदमा 31 साल पुराने अवधेश राय हत्याकांड मामले में केस डायरी को गायब कराने के आरोप में कराया गया है.
31 साल पहले अवधेश राय की उनके घर के सामने गोली मारकर हत्या कर दी गई थी, आरोप मुख्तार अंसारी पर लगा था.

वाराणसी. वाराणसी के कैंट थाने में बाहुबली मुख्तार अंसारी के विरुद्ध मुकदमा दर्ज कराया गया है यह मुकदमा 31 साल पुराने अवधेश राय हत्याकांड मामले में केस डायरी को गायब कराने के आरोप में कराया गया है. 31 साल पहले अवधेश राय की उनके घर के सामने गोली मारकर हत्या कर दी गई थी, इस मामले में आरोप मुख्तार अंसारी पर था और इस पर मुकदमा दर्ज हुआ था.

जून 2022 को सुनवाई के दौरान पता चला कि अवधेश राय हत्याकांड मामले की केस डायरी गायब है. मुख्तार अंसारी के वकील अपनी दलीलें पेश करते हुए कहा कि उक्त मामले की ओरिजिनल केस डायरी गायब है, इसलिए इस केस के ट्रायल को रोक दिया जाए. बता दें कि बाहुबली पूर्व विधायक मुख्तार अंसारी वर्ष 2005 से बीजेपी विधायक कृष्णानंद राय की हत्या के आरोप में बांदा जेल में बंद हैं.

अवधेश राय हत्याकांड की केस डायरी को सुनियोजित तरीके से गायब कराया: पुलिस
इस मामले में बातचीत के दौरान वाराणसी अपर पुलिस आयुक्त संतोष कुमार सिंह ने बताया कि मुख्तार अंसारी के विरुद्ध मुकदमा दर्ज कराया गया है. अवधेश राय हत्याकांड मामले की केस डायरी को सुनियोजित तरीके से गायब कराया गया है. इसका लाभ मुख्तार अंसारी को ही जाता है. इसलिए प्रथम दृष्टया मुख्तार अंसारी पर 120बी और 409 आईपीसी धारा के तहत मुकदमा दर्ज कराया गया है इसके साथ ही कुछ अज्ञात लोगों को भी आरोपी बनाया गया है.

इस पूरे मामले में मुख्तार अंसारी के अधिवक्ता श्रीनाथ त्रिपाठी ने कहा वर्तमान मुकदमा हास्यास्पद रूप में देख रहा हूं. पुलिस ने कैसे मुकदमा करा दिया मुझे समझ नहीं आ रहा हैं, जो मुकदमा पहले कोर्ट में चल रहा हैं, उस इशू को कोर्ट में उठाना चाहिए था, उसको एफआईआर के रूप में उठाया गया है, ये हास्यात्मक है.

Tags: UP news, Varanasi news, Varanasi Police



Source link

more recommended stories