Ayodhya: सीएम योगी की अयोध्‍या को बड़ी सौगात, अब मठ-मंदिरों और धार्मिक स्थलों पर नहीं लगेगा टैक्स

CM Yogi Adityanath,योगी आदित्यनाथ, Ayodhya News,अयोध्‍या, Mutts,मठ, Temples, मंदिर, commercial tax, Ayodhya Nagar Nigam, राम मंदिर, Ram Mandir


अयोध्‍या. योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath)दोबारा यूपी के मुख्यमंत्री बनने के बाद पहली बार राम की नगरी पहुंचे. इस दौरान उन्‍होंने मंडल की समीक्षा बैठक के दौरान अयोध्‍या को बड़ी सौगात दी है. योगी ने अयोध्‍या नगर निगम (Ayodhya Nagar Nigam) के मठ, मंदिर और धार्मिक स्थलों से टैक्स लिए जाने पर रोक लगा दी है. इसके साथ साफ हो गया है कि राम की नगरी में अब मठ, मंदिर और धार्मिक स्थलों से कमर्शियल टैक्स नहीं लिया जाएगा. दरअसल अयोध्‍या के नगर निगम होने के बाद मंदिरों का टैक्स लाखों में आ रहा था. इसको लेकर मठ और मंदिरों के धर्माचार्य ने मुख्यमंत्री से कई बार दर्ज कराई थी. वहीं, आज सभी मुख्यमंत्री ने बड़ी सौगात से बहुत खुश हैं.

बहरहाल, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आज अयोध्या पहुंचकर ऐतिहासिक हनुमानगढ़ी के साथ श्री राम जन्मभूमि जाकर माथा टेका. वह मंदिर ट्रस्ट के अध्यक्ष नृत्य गोपाल दास, भक्तमाल के पीठाधीश्वर कौशल किशोर सहित अन्य संतों से मिले और इसके बाद राम मंदिर के भूमिपूजन/शिलान्यास के बाद प्रथम रामनवमी के उत्सव मनाने हेतु तैयारियों की समीक्षा की. उन्होंने संत और धर्माचार्य से बैठक के माध्यम से उनकी अयोध्या के विकास को लेकर इच्‍छा जानी और कई पहलुओं पर भी सुझाव लिए. इसके बाद योगी ने रामकथा संग्रहालय में उच्च अधिकारियों की समीक्षा बैठक भी की. इस दौरान उन्होंने नगर निगम को साफ निर्देश दिया कि अब मठ, मंदिरों और धार्मिक स्थलों से किसी भी प्रकार का टैक्स नहीं लिया जाएगा. साथ ही उन्होंने अधिकारियों को यह भी निर्देश दिया कि इस बार श्री राम जन्मोत्सव बड़े ही दिव्य और भव्य रूप से मनाया जाए.

सीएम योगी आदित्यनाथ ने अयोध्‍या में हनुमानगढ़ी के साथ श्री राम जन्मभूमि जाकर माथा टेका.

धर्माचार्य काफी समय से कर रहे थे मांग
बता दें कि अयोध्या नगर पालिका के बाद जब से अयोध्या नगर निगम हुआ है तब से मठ और मंदिरों पर भी भारी टैक्स लगा है. इसको लेकर मठ और मंदिरों के धर्माचार्य ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से कई बार मांग की थी कि टैक्स न लगाए जाए. वहीं, दूसरी बार के कार्यकाल में पहली बार अयोध्या पहुंचे मुख्यमंत्री ने मंदिर और मूर्तियों के शहर को नई सौगात दी है. इसके बाद से अयोध्या के संत महंत उत्साहित हैं.

अयोध्या नगर निगम के महापौर ऋषिकेश उपाध्याय ने बताया कि दोबारा भारतीय जनता पार्टी की सरकार बनने के बाद मुख्यमंत्री का प्रथम आगमन था. मुख्यमंत्री स्वयं संत हैं और यह संतों की नगरी है. आज सीएम ने सभी अधिकारियों को निर्देश दे दिया है कि जो मठ, मंदिर और धर्मशाला हैं उनसे चैरिटेबल के रूप में टैक्स लिया जाए, लेकिन कमर्शियल टैक्स ना लिया जाए. इससे संतों में खुशी की लहर है और इस को जल्द ही हम लोग सदन में पास करेंगे. साथ ही कहा कि अयोध्या में 8 हजार मठ-मंदिर हैं. हम लोग सदन से सभी का टैक्स माफ करने का प्रस्ताव पास करेंगे.

हनुमानगढ़ी के महंत राजू दास ने कहा कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को कोटि-कोटि धन्यवाद आभार. साथ ही कहा कि हमारे गुरुदेव ने कई बार मुख्यमंत्री से कहा था, अयोध्या के मठ मंदिरों का टैक्स माफ कर दीजिए. पहले स्थिति यह थी कि सालाना 250 से लेकर 300 रुपये का टैक्स लगता था, लेकिन जब से नगर निगम हुआ तब से किसी मंदिरों में एक लाख तो किसी में 3 लाख का टैक्‍स आता है. इस टैक्स साधु संत कहां से दे पाते. इसको लेकर साधु संतों में अपार पीड़ा थी. मुख्यमंत्री योगी ने सबकी पीड़ा को सुना और टैक्‍स माफ करने का ऐलान कर दिया है.

आपके शहर से (अयोध्या)

उत्तर प्रदेश

उत्तर प्रदेश

Tags: Ayodhya ram mandir, Ayodhya sant samaj, Yogi adityanath



Source link

more recommended stories