‘अल्पसंख्यक बीजेपी को वोट नहीं देते, ये सबसे बड़ा भ्रम..’ योगी के एकमात्र मुस्लिम मंत्री ने बताया पूरा सच


नई दिल्ली. देश के सबसे बड़े राज्य उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) में योगी सरकार ने सत्ता संभाल ली. इस बार योगी कैबिनेट में एक युवा मुस्लिम चेहरे को जगह दी गई है. 33 साल के दानिश आजाद अंसारी (Danish Azad Ansari) यूपी के अल्पसंख्य कल्याण, हज और वक्फ बोर्ड के मंत्री बनाए गए हैं. दानिश आजाद के मंत्री बनाए जाने को लेकर हर तरफ चर्चा हो रही है. ऐसा कहा जा रहा है कि मुस्लम बीजेपी को वोट नहीं करते लेकिन दानिश आजाद ने News18 से एक्सक्लूसिव बात करते हुए कहा है कि यह सिर्फ मिथ है कि मुसलमान बीजेपी को वोट नहीं करते. उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) और यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ (Yogi Aditynath) के विजन से बीजेपी और मुसलमानों के बीच दीवार ध्वस्त हो गई है.

दानिश आजाद बीजेपी के पक्के सिपहसलार रहे हैं. उन्होंने छात्र जीवन से ही भाजपा का दामन थाम लिया था. पहले वे अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद में आए. इसके बाद उन्हें यूपी में बीजेपी अल्पसंख्यक मोर्चे का महासचिव बनाया गया.

बीजेपी पर मुसलमानों का भरोसा बढ़ा
न्यूज 18 से बात करते हुए दानिश आजाद ने बताया कि मुसलमानों को मोदी और योगी के विकास कार्यों पर भरोसा है. उन्हें बिना किसी भेदभाव के सरकारी योजनाओं का लाभ मिल रहा है. चाहे वह फ्री राशन हो, आवास योजना हो या शौचालय बनाने की योजना हो, किसी भी किस्म की भेदभाव मुसलमानों के साथ नहीं किया जा रहा है. इसलिए बीजेपी पर मुसलमानों का भरोसा बढ़ा है. दानिश आजाद ने कहा, यह महज विपक्ष द्वारा फैलाया गया एक हौवा है कि मुसलमान बीजेपी के साथ नहीं है. यह हौवा अब पूरी तरह ध्वस्त हो चुका है. उन्होंने कहा, विपक्षी पार्टियों ने मुसलमानों को वोट बैंक समझकर उनके लिए कुछ नहीं किया लेकिन बीजेपी ने हमेशा उसके विकास के बारे में सोचा. मुसलमानों के लिए बीजेपी पर भरोसा करने का यही आधार है.

मुसलमानों को बीजेपी में शामिल कराने की बड़ी योजना
दानिश आजाद ने कहा, जब मैं मुस्लिम इलाकों का दौरा किया तो पाया कि ये लोग फ्री राशन से बहुत खुश हैं. जब मैंने उनसे पूछा तो उन्होंने कहा कि इसके लिए मुझे किसी तरह की रिश्वत नहीं देनी पड़ी. उनके साथ किसी तरह का भेदभाव नहीं किया जा रहा है. यही कारण है बीजेपी दूसरी बार सत्ता पर काबिज हुई है. उन्होंने कहा कि आज यह बात पूरी तरह से स्पष्ट है कि लोग विकास चाहते हैं, इसलिए मोदी-योगी को पसंद करते हैं. दानिश आजाद ने अपने दफ्तर में अपनी डायरी पर बिस्मिल्लाहिर रहमानिर रहीम लिखकर दिन की शुरुआत करते हुए कहा, अल्पसंख्यकों का अब पूरा भरोसा बीजेपी पर है. मैंने नजदीक से देखा है कि मुसलमान बीजेपी में शामिल हो रहे हैं. हमने एक बड़ी टीम बनाई है जो मुसलमानों को बीजेपी में शामिल करेगी.


मदरसा शिक्षा में सुधार के लिए IIM, IIT से सहयोग लेंगे

मंत्री बनाए जाने पर दानिश आजाद ने कहा, जब जिम्मेदारी बढ़ती है तो लोगों की अपेक्षाएं भी आप से बढ़ जाती है. मैं जमीन पर अल्पसंख्यकों के विकास के लिए काम करना चाहता हूं. मैंने अपने दोस्तों से कहा है कि आप मेरे आस पास लखनऊ में न रहें बल्कि जमीन पर लोगों का काम करें. मैं एबीवीपी के समय से ही जमीन पर काम करना पसंद करता हूं. मेरा रोल मॉडल पीएम मोदी और सीएम योगी हैं. और वे दोनों भी ऐसा ही करते हैं. मैं यूपी में अल्पसंख्यकों की स्थिति सुधारना चाहता हूं. मेरी सरकार ने पिछले पांच साल के दौरान बहुत कुछ किया है अगले पांच साल भी इसे जारी रखेगी. दानिश आजाद ने बताया, मैं मदरसा में एजुकेशन सिस्टम को सुधारना चाहता हूं. इसके लिए आईआईटी, आईआईएम के प्रोफेसरों से सलाह लेने की तैयारी कर रहा हूं.

आपके शहर से (लखनऊ)

उत्तर प्रदेश

उत्तर प्रदेश

Tags: Muslim, UP



Source link