ALIGARH: जब प्रार्थना पत्र पर दिया ओवरब्रिज बनाने का आदेश, पढ़िए मुलायम सिंह से जुड़े रोचक किस्से


रिपोर्ट : वसीम अहमद

अलीगढ़. सपा संस्थापक मुलायम सिंह यादव का आज 82 साल की उम्र में निधन हो गया. पूर्व मुख्यमंत्री मुलायम सिंह यादव का अलीगढ़ से गहरा नाता रहा. उनके कार्यकाल में ही शहर का मीनाक्षी ओवरब्रिज बनाया गया था. अलीगढ़ से जुड़े मुलायम सिंह यादव के कई किस्से हैं. बताया जाता है कि एक सभा को संबोधित करने के लिए मुलायम सिंह यादव हेलिकॉप्टर से ही कूद गए थे. अलीगढ़ से उनका जुड़ाव अलीगढ़ के कद्दावर नेता राजेंद्र सिंह के समय से है. एक किस्सा ये भी है कि 1980 में मुलायम सिंह यादव अलीगढ़ में रथयात्रा लेकर आए थे. जिसका जिले भर में जोरदार स्वागत किया गया था.

अलीगढ़ में दो बार के विधायक रहे हाजी जमीर उल्लाह ने NEWS18 LOCAL से खास बातचीत में कहा कि अलीगढ़ से मुलायम सिंह से जुड़े कई रोचक किस्से हैं. उसी में से एक है 1989 में हुए लोकसभा चुनाव का प्रचार के लिए नेता जी का जोशीला भाषण और जनता के लिए उनका प्रेम.

जब हेलिकॉप्टर से कूदे नेताजी

हाजी जमीर उल्लाह ने बताया कि 1989 में लोकसभा चुनाव का प्रचार करने के लिए मुलायम सिंह यादव हेलिकॉप्टर से अलीगढ़ आए थे. तब सतपाल मलिक प्रत्याशी थे. नेताजी के आने में देरी हो गई थी. कंपनी बाग में सभा का आयोजन हो रहा था. नेताजी हेलिकॉप्टर से पहले हवाई पट्टी पर जाने वाले थे. लेकिन समय की कमी के कारण उन्होंने अपना हेलिकॉप्टर नीचे कराया और करीब 12 फीट की ऊंचाई से हेलिपैड पर से कूद गए. उन्होंने हेलिकॉप्टर नीचे नहीं उतरने दिया. यह देखकर सभी हैरान हो गए थे. नेता जी का स्वागत करने के लिए बहुत से नेता धनीपुर हवाई पट्टी पर पहुंच गए थे. ऐसे में जब उन्हें पता चला कि नेताजी सभास्थल पर पहुंच गए हैं तब वहां से सारे वापस आए.

प्रार्थना पत्र पर ही आदेश दे दिया

एक दूसरे प्रसंग की चर्चा करते हुए हाजी जमीर उल्लाह ने कहा कि 1994-95 में नेता जी मुख्यमंत्री रहते नुमाइश मैदान के कार्यक्रम में शामिल होने आए थे. तब उनके सामने दुबे का पड़ाव रेलवे फाटक का जिक्र किया गया था. यह पाठक तब खूनी पाठक के नाम से जाना जाता था. मुलायम सिंह यादव जी ने उस समय केवल प्रार्थना पत्र पर ही पुल बनाने का आदेश जारी कर दिया था, जो बाद में मीनाक्षी ओवरब्रिज के नाम से जाना गया. इसके अलावा अलीगढ़ में लधोआ चीनी मिल भी मुलायम सिंह के कार्यकाल की ही देन है. ऐसी ही न जाने कितने यादें कितने किस्से मुलायम सिंह और अलीगढ़ के बीच हैं.

Tags: Aligarh news, Mulayam Singh Yadav, UP news



Source link