अखिलेश यादव ने लगाया बड़ा आरोप, कहा- सैफई विश्वविद्यालय को बंद करना चाहती है यूपी सरकार


हाइलाइट्स

सुरक्षा गार्डों से मुलाकात के बाद, अखिलेश यादव ने किया ट्वीट
ट्वीट कर सरकार पर लगाए गंभीर आरोप

 इटावा: उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और सपा सुप्रीमो अखिलेश यादव ने सैफई विश्वविद्यालय को लेकर उत्तर प्रदेश सरकार पर बड़ा आरोप लगाया है. अखिलेश यादव ने उत्तर प्रदेश सरकार पर हमला बोलते हुए कहा कि ग्रामीण क्षेत्र मे स्थापित देश के इकलौते मेडिकल संस्थान सैफई मेडिकल यूनिवर्सिटी को यूपी सरकार बंद करने की साजिश रच रही है. शनिवार को सैफई स्थित आवास पर सुरक्षा गार्डों की समस्या सुनकर उन्होंने ट्वीट के जरिये यह आरोप लगाया है.

आपको बता दें कि सैफई मेडिकल यूनिवर्सिटी में सुरक्षा की कमान संभाले पूर्व सैनिकों ने शनिवार की सुबह सैकड़ों की संख्या में पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के आवास पर पहुंचकर मुलाकात की. इस दौरान उन्होंने विश्वविद्यालय प्रशासन पर कई गंभीर आरोप लगाते हुए अखिलेश यादव से शिकायत की. जिसके बाद अखिलेश यादव ने ट्वीट किया.

नई कंपनी को मिला टेंडर
अखिलेश यादव से मुलाकात करने गए पूर्व सैनिकों ने कहा कि जिस यूनिवर्सिटी में नेता जी मुलायम यादव ने गरीबों को बहतर इलाज देने का सपना देखा था, उसको अब कुलपति एवं वित्त निदेशक बर्बाद करने पर तुले हैं. हम सैनिक देश की सेवा करने के बाद यहां पिछले 15 सालों से सेवा दे रहे हैं, लेकिन अब हम लोगों को निकालकर अपनी चहेती प्राइवेट कंपनी को ठेका दे दिया है. विश्वविद्यालय में सिक्योरिटी सम्भालने वाले पूर्व सैनिकों ने कहा कि हम लोगों को दबाव से कार्य करने के लिए कहा जा रहा है, नहीं तो बाहर निकालने की धमकी दी गई है.

पूर्व सैनिकों ने कहा कि पिछले 15 साल से हम लोग जिस वेतन पर काम कर रहे थे, उसको अब प्राइवेट कंपनी के माध्यम से घटाकर देने की बात की जा रही है. पूर्व सैनिकों ने विश्वविद्यालय के वित्त निदेशक के खिलाफ भी शिकायत की. पूर्व सैनिकों ने कहा कि वित्त निदेशक ने अपने चहेते ठेकेदार को ठेका दिया है, जिससे हम लोगों की नौकरी को खतरा उत्पन्न हो गया है.

आपको बता दें कि सैफई मेडिकल यूनिवर्सिटी में पिछले 15 वर्षों से सुरक्षा की जिम्मेदारी संभाले, पूर्व सैनिक कल्याण निगम एजेंसी का ठेका 31 अगस्त को समाप्त हो जाएगा. अभी यूनिवर्सिटी में पूर्व सैनिक कल्याण निगम के माध्यम से 384 पूर्व सैनिक सुरक्षा की कमान संभाले हैं. लेकिन बताया जा रहा कि अब 200 प्राइवेट गार्ड लगाए जाएंगे. बाकी जगह पर कैमरे लगाए जाएंगे.

नए टेंडर को लेकर उठे सवाल?
यूनिवर्सिटी में अभी पूर्व सैनिक कल्याण निगम सुरक्षा की एजेंसी है, जिसको सालाना साढ़े 12 करोड रुपए भुगतान किया जाता है. अब नया टेंडर जेम पोर्टल के माध्यम निश्चल सुविधा सर्विसेज प्राइवेट लिमिटेड कंपनी प्रयागराज को मिला है. जिसको साढे 16 करोड़ रुपए सालाना भुगतान किया जाएगा. ऐसे में यह सवाल जरूर उठ रहा है कि जो टेंडर साढ़े 12 करोड़ में काम कर रहा था, वही टेंडर अब 16 करोड़ में दिया जा रहा है. जबकि अब सुरक्षा कर्मी भी घटा दिए गए हैं.

पूर्व मुख्यमंत्री ने सुरक्षा गार्डों से मुलाकात करके सदन में समस्या उठाने की बात कही और यह भी कहा कि आप लोगों के साथ अन्याय नहीं होने दिया जाएगा. अखिलेश यादव से मुलाकात करने के बाद सभी सुरक्षा गार्डों ने प्रशासनिक भवन का घेराव कर धरने पर बैठे गए. इस बीच कुलपति ने समझाया जिसके बाद सभी सुरक्षा गार्ड काम पर लौट गए।. सुरक्षा गार्डों ने कहा कि अगर उनकी मांगे नहीं मानी गई तो सोमवार से वो पूर्णतया हड़ताल पर चले जाएंगे.

कुलपति ने कहा सब नियमानुसार
पूरे मामले को लेकर सैफई मेडिकल यूनिवर्सिटी के कुलपति प्रोफेसर डा.प्रभात कुमार ने भी अपनी बात रखी है. उनका कहना है कि पिछले 15 सालों से एक ही फर्म के पास टेंडर था. अब नियम के तहत टेंडर किया गया है, जो सुरक्षा गार्ड रहना चाह रहे हैं उनको निकाला नहीं जाएगा. कुलपति ने कहा कि जो वेतन नियमानुसार है वही सभी को मिलेगा, उसमें कोई कटौती नहीं की जाएगी.

पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव शुक्रवार की रात करीब 10 बजे लखनऊ से चलकर अपने गांव पहुंचे थे. जहां से आज सुबह 10 बजे नोएडा में आयोजित एक कार्यक्रम में शामिल होने के लिए निकल गए. इस बीच इस बार आस पास के जनपदों से आए कार्यकर्ताओं से मुलाकात भी नहीं की. उन्होंने सिर्फ सुरक्षा गार्डों से मुलाकात की और रवाना हो गए.

Tags: Akhilesh yadav, Chief Minister Yogi Adityanath, Etawah news, Saifai Medical University, Saifai News, Uttarpradesh news



Source link

more recommended stories