आजमगढ़: सपा प्रत्याशी धर्मेंद्र यादव ने बीजेपी को घेरा, जुमे के दिन जगह-जगह भड़की हिंसा पर दिया बड़ा बयान


आजमगढ़. उत्तर प्रदेश के विभिन्न जिलों में बीजेपी की निलंबित प्रवक्ता नूपुर शर्मा और नवीन जिंदल के खिलाफ विरोध-प्रदर्शन के दौरान भड़की हिंसा को लेकर धर्मेन्द्र यादव ने बड़ा बयान दिया है. आजमगढ़ लोकसभा सीट पर होने वाले उपचुनाव में समाजवादी पार्टी के प्रत्याशी धर्मेन्द्र यादव ने यहां कहा कि ‘गलत टिप्पणी करके आज देश में माहौल खराब किया जा रहा है. देश में जो लोग भी गलत टिप्पणी कर रहे हैं, हम उसकी निंदा करते हैं.’

शहर के नरौली स्थित विश्वकर्मा भवन में मीडियाकर्मीयों से बातचीत में सपा प्रत्याशी धर्मेन्द्र यादव ने कहा, ‘आज देश में अगर सबसे अधिक बेरोजगारी है तो इसका कारण भारतीय जनता पार्टी है. आज नौजवान, किसान, बेराजगार, मजदूर और सभी तबके के लोग परेशान हैं. बीजेपी इन मुद्दों से ध्यान भटकाने के लिए ऐसा कर रही है.’

इसके साथ ही उन्होंने कहा कि प्रदेश की जनता की आवाज और उन्हें न्याय दिलाने के लिए राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव का विधानसभा में रहना काफी जरूरी था, इसलिए उन्होंने इस सीट से इस्तिफा दिया और पार्टी की जिला इकाई ने मुझे चुनाव लड़ने का मौका दिया.

सपा प्रत्याशी ने कहा, ‘आजमगढ़ के लोग यह जानते हैं कि जिले में सुगर मिल से लेकर पुल और पुलिया का निर्माण किसने कराया. यह सब कुछ नेताजी और अखिलेश यादव की सरकार में हुआ.’ उन्होंने कहा कि प्रदेश में पिछले पांच सालों में भाजपा की सरकार ने आजमगढ़ को उपेक्षित रखा, यही नहीं समाजवादियों के द्वारा जिले में विकास कार्यों को भी ठप कर दिया गया. उन्होने आजमगढ़ की जनता को भरोसा दिलाया कि वे एक संघर्षशील, मजबूत व्यक्ति की तरह उनके भाई व बेटा बनकर कार्य करेंगे.

वहीं भाजपा प्रत्याशी दिनेश लाल यादव द्वारा चुनाव प्रचार के दौरान एक पीड़ित परिवार के घर पहुंचकर दारोगा को फोन पर धमकी भरे लहजे में बात करने के सवाल पर सपा प्रत्याशी ने कहा कि यह भाजपा प्रत्याशी का घंमड बोल रहा है. उन्होंने कहा कि यह प्रशासन को सोचाना चाहिए कि निष्पक्ष आर्दश आचार संहिता का पालन कैसे कराना है.

इसके साथ ही उन्होंने उम्मीद जताई की प्रशासन के लोग इन चीजों को समझेंगे और इस तरह की धमकी पर कोई धमकने वाला नहीं होगा. वहीं चुनाव में स्थानीय बनाम बाहरी के मुद्दे पर धर्मेन्द्र यादव ने कहा कि इस पर वह कुछ नहीं बोलेंगे. इसका जवाब आने वाले 23 जून को आजमगढ़ की जनता देगी और उसका परिणाम 26 जून को सामने आएगा.

Tags: Azamgarh news, BJP, Dharmendra Yadav, Dinesh lal yadav nirahua, Samajwadi party



Source link

more recommended stories