आजमगढ़ : जमीन विवाद को लेकर हुआ खूनी संघर्ष, दलित महिला को पीट-पीटकर उतारा मौत के घाट


आजमगढ़. उत्तर प्रदेश के आजमगढ़ जिले में बिलरियागंज थाना क्षेत्र में स्थित छीही गांव में भूमि विवाद को लेकर हुए खूनी संघर्ष में एक दलित महिला को पीट-पीटकर मौत के घाट उतारा दिया गया. वहीं इस संघर्ष में आधा दर्जन लोग घायल हो गए हैं. सूचना के बाद भारी संख्या में पुलिस फोर्स गांव पहुंची और शव को अपने कब्जे में लिया. वहीं पुलिस ने इस मामले में चार लोगों को गिरफ्तार कर लिया है.

प्राप्त जानकारी के मुताबिक, लरियागंज थाना क्षेत्र के छीही गांव निवासी रविंद्र प्रसाद का गांव के ही केदार नाम के शख्स से भूमि विवाद चल रहा था. रविंद्र प्रसाद ने अपने खेत में नया मकान बनाने के लिए पिलर खड़ा कर दिया था. बुधवार की सुबह वह घर में भोजन कर रहा था. इसी दौरान पता चला कि केदार और उसके साथी फौजदार, संतराज, जैतिल आदि लोग उसके खेत में खड़े पिलर को गिरा रहे हैं.

इसके बाद रविंद्र प्रसाद ने मौके पर पहुंचकर उन लोगों को रोकने की कोशिश की तो हमलावरों ने कथित रूप से रविंद्र पर हमला बोल दिया. इस दौरान बीच-बचाव के लिए घर की महिलाए भी पहुंच गई. खबर है कि उन हमलावरों ने फिर लाठी-डंडे, सरिया और भाले से उन पर हमला बोल दिया. हमलावरों ने रीना भारती नाम महिला की पीट-पीट कर मौत के घाट उतार दिया, जबकि रविंद्र प्रसाद, मेनी देवी, सिद्धार्थ, बालकिशुन, राधेश्याम, राजेन्द्र, हरेन्द्र घायल हो गए.

इस बीच स्थानीय लोगों ने इस झड़प की सूचना पुलिस को दी, जिसके बाद भारी पुलिस बल के साथ आला अधिकारी मौके पर पहुंच गए. इस दौरान पुलिस ने चार लोगों को हिरासत में ले लिया, वहीं सभी घायलों को उपचार के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया है. गांव में तनाव को देखते हुए ऐहतियात के तौर भारी पुलिस बल तैनात कर दिया गया है.

इस मामले में सपा प्रवक्ता आईपी सिंह ने ट्विटर पर प्रदेश के डीजीपी और डीआईजी आजमगढ़ रेंज को टैग करते हुए दोषियों पर कार्यवाई की मांग की है. तो वहीं आजमगढ़ पुलिस ने बताया कि इस घटना में मुकदमा दर्ज कर चार आरोपितों को गिरफ्तार किया गया है. अग्रीम कार्रवाई जारी है.

Tags: Azamgarh news, Dalit Harassment, UP police



Source link

more recommended stories