आजमगढ़: BJP में बगावत, योगी के करीबी MLC यशवंत सिंह के बेटे ने निर्दलीय भरा पर्चा


आजमगढ़. जिले में एमएलसी चुनाव के नामांकन के अंतिम दिन आजमगढ़-मऊ एमएलसी चुनाव (Azamgarh-Mau MLC elections 2022) को लेकर भाजपा में बगावत का बिगुल बज गया. भाजपा ने जहां पूर्व विधायक अरूणकांत यादव को एमएलसी का टिकट दिया, तो वहीं भाजपा एमएलसी यशवंत सिंह के पुत्र विक्रांत सिंह ने पार्टी लाइन से हटकर निर्दलीय प्रत्याशी के रूप में अपना नामांकन पत्र भर दिया. जिसके बाद सियासी तापमान और गर्म हो गया. वहीं, नामांकन पत्र भरने के बाद विक्रांत सिंह ने कहा कि वे लगातार मेहनत कर रहे थे, जिला पंचायत अध्यक्ष और एमएलसी का टिकट सिर्फ इस बिनाह पर काट दिया कि आपके पिता एमएलसी हैं. इसलिए जनता के आर्शिवाद से निर्दलीय ही नामांकन दाखिल किया है.

एमएलसी चुनाव के लिए भाजपा से कई दावेदार मैदान में थे, लेकिन विधानसभा चुनाव में भाजपा का जिले से सूपड़ा साफ होने और एमएलसी के लिए समाजवादी पार्टी द्वारा अपने एमएलसी राकेश यादव गुड्डू पर पुनः विश्वास जताने के बाद भाजपा आलाकमान ने बाहुबली सपा विधायक रमाकांत यादव के पुत्र व पूर्व भाजपा विधायक अरूण कांत यादव को उत्तर प्रदेश राज्य विधानसभा परिषद के आजमगढ-मऊ से अपना अधिकृत प्रत्याशी बनाया. लेकिन नामांकन के अंतिम दिन भाजपा एमएलसी यशवंत सिंह के पुत्र विक्रांत सिंह ने जब निर्दलीय नामांकन किया तो सियासत गर्म हो गई.

माना जा रहा है कि अरूणकांत यादव को टिकट दिये जाने से जिले में भाजपा का एक धड़ा खुश नहीं था, इसी के तहत ही एमएलसी के पुत्र विक्रांत सिंह का नामांकन दाखिल कराया गया. वहीं नामांकन दाखिल करने के बाद बाहर निकले एमएलसी के पुत्र विक्रांत सिंह ने कहा कि उन्होंने जनता के बीच एक साल से मेंहनत की थी और जनता के आर्शीवाद से ही आज निर्दलीय के रूप में नामांकन किया गया है. पार्टी लाइन से हटकर निर्दलीय के रूप में नामांकन करने के सवाल पर उन्होंने कहा कि मैं जिला पंचायत सदस्य के लिए चुनाव लड़ा और 10 हजार वोटों से जीत गया.

BJP MLA दयाशंकर सिंह से तलाक के लिए स्वाती सिंह ने दोबारा दाखिल की अर्जी, कोर्ट में फैसला सुरक्षित

जिला पंचायत अध्यक्ष के लिए उन्होंने तैयारी की तो उनका पार्टी ने टिकट काट दिया और कहा कि आप एमएलसी यशंवत सिहं के पुत्र हैं. फिर जब मैं एमएलसी की तैयारी पिछले एक साल से कर रहा था तो फिर वही हवाला दिया गया कि आप एमएलसी यशवंत सिंह के पुत्र हैं, इसलिए आपको टिकट नहीं मिलेगा. एक सवाल के जबाव में उन्होंने कहा कि उनके पिता एमएलसी यशंवत सिंह प्रचार करेंगे या नहीं यह उनका निर्णय होगा.

आपके शहर से (आजमगढ़)

उत्तर प्रदेश

उत्तर प्रदेश

Tags: Azamgarh news, UP Legislative Council Election 2022, Uttar pradesh news, Yogi adityanath



Source link

more recommended stories