आजम खान की रिहाई पर अखिलेश यादव ने तोड़ी चुप्पी, कहा – झूठ के लम्हे होते हैं, सदियां नहीं

अखिलेश यादव ने सोशल मीडिया में किया पोस्ट.


लखनऊ. सुप्रीम कोर्ट से अंतरिम जमानत मिलने के बाद समाजवादी पार्टी के कद्दावर नेता और रामपुर विधायक आजम खान (Azam Khan) करीब 27 महीने बाद शुक्रवार को जेल से बाहर आए. वहीं आजम खान की रिहाई के 20 घंटे बाद समाजवादी पार्टी के प्रमुख अखिलेश यादव ने चुप्पी तोड़ते हुए ट्वीट कर खुशी जताई और कहा कि, “झूठ के लम्हे होते हैं, सदियां नहीं.” सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने अपने आधिकारिक ट्विटर अकाउंट पर पोस्ट में लिखा है, “सपा के वरिष्ठ नेता व विधायक मा. श्री आज़म ख़ान जी के जमानत पर रिहा होने पर उनका हार्दिक स्वागत है. जमानत के इस फ़ैसले से सर्वोच्च न्यायालय ने न्याय को नये मानक दिये हैं. पूरा ऐतबार है कि वो अन्य सभी झूठे मामलों-मुक़दमों में बाइज़्ज़त बरी होंगे.”

इससे पहले प्रगतिशील समाजवादी पार्टी के नेता शिवपाल सिंह यादव भी शुक्रवार सुबह आजम खान को रिसीव करने के लिए सीतापुर जेल गए थे. यहां आजम का स्वागत करने के बाद शिवपाल सिंह लखनऊ के लिए रवाना हो गए. इस दौरान शिवपाल यादव ने ये भी कहा कि मुलायम सिंह यादव ने हमें सिखाया है कि हम सुख दुख में साथ दें. गौरतलब है कि आजम खान को 89वें मामले में गुरुवार को सुप्रीम कोर्ट से अंतरिम जमानत मिली, जिसके बाद देर रात उनकी रिहाई का आदेश जेल पहुंचा और तमाम कागजी कार्रवाई के बाद उन्हें शुक्रवार सुबह जेल से रिहाई मिली.

अखिलेश यादव ने सोशल मीडिया में किया पोस्ट.

सुप्रीम कोर्ट ने उन्हें अंतरिम जमानत दी है. रेगुलर बेल के लिए उन्हें 14 दिन का समय दिया गया है. 14 दिन के भीतर उन्हें निचली अदालत से रेगुलर बेल लेनी होगी. अगर निचली अदालत से उन्हें बेल नहीं मिलती है तो फिर जेल जाना पड़ सकता है. आजम खान के खिलाफ रामपुर जिले में अलग-अलग थानों में 88 मामले दर्ज हुए हैं, जिनमें सभी मामलों में उन्हें जमानत मिल गई थी, लेकिन 2020 के एक अन्य मामले में आजम खान का नाम शामिल किया गया.

Tags: Akhilesh yadav, Azam Khan, CM Yogi, Samajwadi Party MP, Shivpal Yadav, UP Police उत्तर प्रदेश, UP politics, Yogi government



Source link

more recommended stories