17 लाख की दुल्हन शादी के 15 दिन बाद हुई फुर्र, जानिये कहाँ का है मामला

राजस्थान के जालौर जिले बागोड़ा थाना क्षेत्र में शादी के नाम पर युवक से धोखाधड़ी का मामला सामने आया है. यहां एक युवक 17 लाख रुपये की भारी-भरकम रकम देकर 23 साल की दुल्हन से शादी करके घर लाया था. 15 दिन बाद 17 लाख रुपये देकर घर लाई गई दुल्हन फरार हो गई. पुलिस ने अब जाकर शादी कराने वाले दलाल को गिरफ्तार कर लिया है.
जानकारी के अनुसार, बागोड़ा थाना क्षेत्र के जूनी बाली निवासी हरिसिंह ने रिपोर्ट दर्ज करवाई थी कि फरवरी 2021 में उसने शादी की थी. शादी करवाने के नाम पर एक दलाल ने उससे 17 लाख रुपये लिए थे. शादी के 15 दिन बाद दुल्हन पीहर गई थी, लेकिन उसके बाद वह वापस नहीं लौटी.
जालौर एसपी हर्षवर्धन अगरवाला के निर्देशन में थानाधिकारी शत्रु सिंह के नेतृत्व में टीमें गठित की गईं. पुलिस ने मुख्य आरोपी दलाल इंदु भाई को गिरफ्तार कर लिया.
दलाल से की जा रही पूछताछ

पुलिस के अनुसार, आरोपी इंदु भाई उर्फ अंदुजी एक ड्राइवर है. फिलहाल पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार करने के बाद न्यायालय में पेश किया, जहां से आरोपी को न्यायालय ने पुलिस रिमांड पर सौंपा है, जिससे पुलिस की कड़ी पूछताछ जारी है.

लुटेरी दुल्हन ने बना रखा था फर्जी आधार कार्ड

पुलिस के अनुसार, युवक के साथ जिस युवती की शादी हुई थी, उसके पास फर्जी आधार कार्ड था. नाम और पता सत्यापित नहीं हो पा रहा है. बताया जा रहा है कि दुल्हन की फर्जी आईडी में उसका नाम राधा लिखा है. पुलिस को अब तक लुटेरी दुल्हन का कोई सुराग नहीं लग पाया है. पुलिस की ओर से फोटो के आधार पर लुटेरी दुल्हन तक पहुंचने के प्रयास किए जा रहे हैं.
बीते साल जून में दर्ज कराई गई थी रिपोर्ट

पुलिस ने बताया कि यह मामला करीब सात महीने पुराना है. यहां जालौर जिले के बागोड़ा थाना इलाके के जूनी बाली गांव के रहने वाले एक युवक के साथ दुल्हन ने वारदात को अंजाम दिया था. पुलिस के मुताबिक, बीते साल 2 जून को जूनी बाली निवासी हरि सिंह ने इस मामले पर शिकायत दी थी.

7 महीने तक पुलिस ने की आरोपी की तलाश

एसपी हर्षवर्धन अग्रवाल ने बताया कि बागोड़ा थानाधिकारी छतरसिंह के नेतृत्व में दुल्हन और दलाल की तलाश में एक टीम बनाई गई थी. पुलिस ने दोनों की तलाश में पिछले 7 महीने खाक छानी और आखिरकार 7 महीने बाद पुलिस ने मुख्य दलाल को गुजरात के पाटन के सिद्धपुर क्षेत्र के हाथ देथली के रहने वाले अन्दुजी उर्फ इन्दु भाई को गिरफ्तार किया.
दुल्हन का नहीं लगा अब तक कोई सुराग

पुलिस ने गिरफ्तारी के बाद आरोपी को मंगलवार को भीनमाल न्यायालय में पेश किया. हालांकि पुलिस को अभी तक दुल्हन का कोई सुराग पता नहीं चल पाया है. पुलिस की टीमें महिला की तलाश में जगह-जगह दबिश दे रही हैं. इसके साथ ही पुलिस ने अभी तक मामले की जांच में यह पाया है कि शादी के दौरान दिखाए गए लड़की के सभी दस्तावेज भी फर्जी निकले हैं.

जालौर में लुटेरी दुल्हनों का गहरा जाल

गौरतलब है कि राजस्थान में कुछ सालों में लुटेरी दुल्हनों (Robber bride) और उनके दलालों की कई वारदातें सामने आई हैं. यहां दलालों के गिरोह के साथ मिलकर महिलाएं फर्जी शादी को अंजाम देती हैं और लाखों रुपये की चपत लगाकर चली जाती हैं. यह गिरोह दलालों की मदद से फर्जी शादी करके पैसों की लूट करते हैं.

कुंवारे युवकों को फंसाते हैं जालसाज

गिरोह से जुड़े लोग कुंवारे युवकों को अपने जाल में फंसाते हैं, फिर मोटी रकम लेकर फर्जी दुल्हनों से शादी करवाते हैं. वहीं कुछ दिनों के बाद मौका पाते ही यह लुटेरी दुल्हनें पति के घर से रुपये और गहने लेकर फरार हो जाती हैं.