10 मोबाइल चोर गिरफ्तार, बारामदगी देख पुलिस भी हैरान, 2 करोड़ के फोन व लैपटॉप, 3.5 लाख नकद मिले

टिकट बुकिंग से लेकर बस की लोकेशन तक के लिए पब्लिक ट्रांसपोर्ट का वन स्टॉप सॉल्यूशन है ट्यूमॉक


मेरठ. मेरठ पुलिस ने मोबाइल चोरी करने वाले एक संगठित गिरोह का पर्दाफाश करते हुए इनामी अभियुक्त सहित 10 आरोपियों को गिरफ्तार किया है. आरोपियों की गिरफ्तारी के साथ ही बरामद हुए सामान को देखकर पुलिस भी चौंक गई. आरोपियों के पास से करीब 2 करोड़ रुपये के 207 मोबाइल और लैपटॉप, 3.5 लाख रुपये नकद, 1.5 लाख रुपये की विदेशी शराब, एक कार, चार मोटरसाइकिल, एक पिस्टल, तीन तमंचे और कई जिंदा कारतूस बरामद किए हैं. पुलिस पूछताछ में पता चला कि आरोपी लूट के मोबाइल व लैपटॉप देश में ही नहीं बल्कि श्रीलंका, नेपाल, चीन, बांग्लादेश, दुबई व अन्य खाड़ी देशों में भी सप्लाई करते थे.
पुलिस ने बताया कि मेरठ व आसपास के क्षेत्रों में लगातार हो रही मोबाइल स्नैचिंग और लूट की घटनाओं को रोकने के लिए मेरठ एसओजी की टीम को लगाया गया था. जिसके बाद मुखबिर की सूचना पर पुलिस ने आरोपियों को दबोच लिया.

कई शहरों में करते थे लूट फिर…
पुलिस ने बताया कि गिरोह का सरगना है शरद गोस्वामी, इसी के इशारे पर गिरोह के अन्य सदस्य हर दिन दिल्ली, गाजियाबाद, नोएडा, वृंदावन, गुरुग्राम और मेरठ में मोबाइल लूट और स्नैचिंग की वारदात को अंजाम देते थे और अपने वाहनों से मेरठ पहुंचते थे. इसके बाद गैंग लीडर शरद, नदीम और महफूज को संपर्क कर बुला लेते थे. जिसके बाद वाहनों को बदल कर रुड़की के लिए चले जाते थे. जानकारी के अनुसार ये आरोपी एक दिन में कम से कम 40 से 60 मोबाइल लूट लेते थे. शरद अपने रुड़की के घर पर इन सभी मोबाइलों को ले जाकर 100-100 के बंडल तैयार करता था.

फिर विदेश में होते थे सप्लाई
शरद गोस्वामी मोबाईलों के पासवर्ड और आईएमईआई नंबर को बदलकर गिरोह के सदस्य नदीम व अन्य के हाथों श्रीलंका, चीन, नेपाल, दुबई, बांगलादेश, खाड़ी के अन्य देशों में भेज कर बेचा करते थे. इस तहर से हर महीने 2500-3000 मोबाईलों का कन्साईनमेन्ट बनाकर अन्य देशों व भारत के अन्य राज्यों में भेज दिया जाता था. गिरोह के सदस्यों द्वारा लूटे मोबाईल खरीद व बेचकर करोड़ाें रुपयों की सम्पत्ति भी बनाई गई है.

इतनी संपत्ति
आरोपियों के पास एक निर्माणाधीन थ्री स्टार होटल और शरद की पत्नी के नाम मेरठ में आलीशान मकान, रुड़की में 200 गज में शानदार कोठी बनायी गई है. वहीं आरोपियों ने शेयर मार्केट व गोल्ड में भी निवेश किया है. गिरोह के सदस्य महफूज ने लिसाडी गेट में 2 आलीशान मकान बनाए हैं. वहीं फरार नदीम ने शान्ति नगर में एक मकान और एक जमीन खरीदी हुई है.

10 मोबाइल चोर गिरफ्तार, बारामदगी देख पुलिस भी हैरान, 2 करोड़ के फोन मिले

आपके शहर से (लखनऊ)

उत्तर प्रदेश

उत्तर प्रदेश

Tags: Meerut news, UP news



Source link

more recommended stories